Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

लॉकडाउन तोड़कर घर से बाहर निकली महिला, कपड़े उतार कर जमकर किया हंगामा!

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले चुका है। इस वायरस की वजह से दुनियाभर के लाखों लोग की जान जा चुकी है। इस वायरस की वजह से दुनिया के ज्यादातर देशों के लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं।

फिलहाल इस वायरस की अभी तक कोई वैक्सीन नहीं इजाद की जा सकी है। यही कारण है कि तमाम देश सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन की मदद से कोरोना वायरस को मात देने की कोशिश कर रहे हैं।

लेकिन महीनों से घर में कैद लोग अब लॉकडाउन से परेशान हो चुके हैं। लोग घरों से बाहर निकलना तो चाहते हैं लेकिन वायरस के डर और प्रतिबंधों की वजह से निकल नहीं पा रहे हैं। इस बीच लॉकडाउन को लेकर स्पेन में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है।

यहां एक महिला लॉकडाउन का उल्लघंन कर बाहर निकल गई। जब पुलिस उसे पकड़कर कोर्ट ले गई तो उसके बाद उसने सारे कपड़े उतारकर खूब हंगामा किया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक 41 वर्षीय महिला से घर से लॉकडाउन के नियम तोड़कर निकल आई। इस दौरान वह टोरेमोलिनोस इलाके में काम कर रहे मेडिकल स्टाफ की हौसला अफजाई के लिए सड़क पर खड़ी होकर तालियां बजाने लगी। तभी अचानक वहां पुलिस पहुंच गई और महिला को गिरफ्तार कर लिया।

इसके बाद कोर्ट ने उस महिला को जमानत पर हिदायत देते हुए रिहा कर दिया। लेकिन कोर्ट से बाहर आते ही महिला ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और हंगामा करने लगी।

इस बीच वह पुलिस की कार पर भी चढ़ गई। इसके बार पुलिस वालों ने उसे घेर कर पकड़ा। वह कपड़े पहनने को तैयार नहीं थी। फिर मजबूरी में पुलिस वालों को उसे कपड़े में लपेटकर एक एंबुलेंस में डालकर घर भेजना पड़ा।

अन्तर्राष्ट्रीय

अमेरिकी विशेषज्ञ की सलाह- भारत में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए कुछ सप्ताह का लगे लॉकडाउन

Published

on

नई दिल्ली। अमेरिका के महामारी विशेषज्ञ एंथनी फाउची ने भारत में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए कुछ सप्ताह के लॉकडाउन की सलाह दी है। फाउची ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए उठाए जा सकने वाले तत्काल कदम के तौर पर भारत को ये सलाह दी है। फाउची ने ये सुझाव ऐसे समय पर दिया है जब भारत में हर रोज कोरोना के रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं।

उन्होंने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को दिए इंटरव्यू में कहा कि लॉकडाउन के अलावा ऑक्सीजन, दवाओं और पीपीई किट की उपलब्धता बढ़ाना दूसरी महत्वपूर्ण आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि संकट की भयावहता के मद्देनजर, भारत को एक संकट समूह बनाना चाहिए, जो बैठकें करे और चीजों को संगठित करना शुरू करे। बता दें कि फाउची अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के मुख्य स्वास्थ्य सलाहकार भी हैं।

Continue Reading

Trending