Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

ऑफ़बीट

नॉनवेज होती हैं खाने की ये 6 चीजें, सावन में भूल से भी न करें इस्तेमाल

Published

on

प्रतीकात्मक तस्वीर

आज हम आपको कुछ ऐसी खाने की चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे लोग वेज समझते हैं लेकिन ये असल में नॉनवेज होता है। आईए जानते हैं कौन ही हैं वो खाने की चीजें…

सूप


ज्यादातर लोग सूप को शाकाहारी समझ कर बड़े ही शौक से पीते हैं लेकिन रेस्टोरेंट्स में मिलने वाले इस सूपों में जिन सॉसेज का इस्तेमाल किया जाता है उनमें मछली से पाए गए उत्पादों से प्राप्त किया जाता है। ऐसे में अगर आप रेस्टोरेंट में कभी सूप पिएं तो वेटर से जरुर कंफर्म कर लें कि ये सूप पूरी तरह से वेज है या नहीं।

तेल


खाना बनाने के लिए आप जिस तेल का इस्तेंमाल कर रही हैं उसे एक बार गौर से देख लें। अगर इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड है तो आपका तेल शाकाहारी नहीं है। कुछ तेल जिनमें विटामिन डी के होने का दावा किया जाता है उसमें लेनोलिन पाया जाता है जो कि भेड़ से बनता है। तो अगली बार ऑयल खरीदने से पहले एक बार जरूर पढ लें।

व्हाइट शुगर


व्हाइट शुगर को तैयार करते समय उसे साफ करने की जो प्रक्रिया अपनाई जाती है उसमें नेचुरल कार्बन का इस्तेमाल होता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि ये नेचुरल कार्बन बोन चार होता है जो जानवरों की हड्डियों से बनाया जाता है।

बियर या वाइन


कई लोग ये कहकर बियर और वाइन पीते हैं कि ये तो फलों के रस से बनी है। बता दें, शराब को साफ करने के लिए इजिनग्लास का इस्तेमाल किया जाता है जो फिश ब्लेडर से बनता है।

जैम


बहुत सारे घरों में ब्रेकफास्ट में ब्रेड जैम खाना पसंद करते हैं। जैम में जिलेटिन होता है और जिलेटिन जानवरों से पाया जाने वाला प्रोडक्ट है।

दही


अगर आप बाजार से दही खरीद रहे हैं तो उसके पैक पर एक बार उस पर लिखे इंग्रीडिएंट्स जरूर पढ़ लें। अगर इसमें जिलेटिन है तो आपका ये दही वेज नहीं है।

ऑफ़बीट

आखिर मोबाइल में क्यों होता है फ्लाइट मोड का ऑप्शन, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान

Published

on

By

आज के दौर में फ़ोन किसी भी कंपनी का हो, उसमें ‘फ्लाइट मोड’ का ऑप्शन होता ही है। लेकिन क्या आपको पता है हम लोगों के फ़ोन में ये ऑप्शन क्यों दिया जाता है? आइए आज हम आपको इस बारे में बताते है।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

आपको बता दें, सभी फ़ोन में फ्लाइट मोड पाया जाता है। क्योंकि फोन में विद्युत चुंबक होता है। और फोन में आने वाली विद्युतीय सिग्नल फ्लाइट के सिग्नल को भी हैंग कर सकता है। इसीलिए फोन को फ्लाइट मोड पर रखा जाता है ताकि फोन की विद्युतीय सिग्नल हवाई जहाज के विद्युतीय सिग्नल से ना मिले।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

जब मोबाइल को ‘फ्लाइट मोड’ पर रखने से आपके फ़ोन की सारी डेटा सर्विस जैसे WiFi, GSM, ब्लूटूथ आदि डिसेबल हो जाते है। फ्लाइट का लैंडिंग और टेक ऑफ होना दोनों ही संवेदनशील ऑपरेशन है जिनमें बेहद सतर्कता और सावधानी रखने की जरूरत होती है।

Continue Reading

Trending