Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

ऑफ़बीट

40 वर्ष बाद पुनः प्रकट हुई “सरस्वती” का हुआ भव्य विमोचन

Published

on

रायबरेली के फिरोज गांधी कालेज सभागार में 21 नवंबर को आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी स्मृति दिवस कार्यक्रम के अवसर पर इंडियन प्रेस प्रयागराज द्वारा 40 वर्ष बाद पुनः प्रकाशित साहित्यिक पत्रिका “सरस्वती” का विमोचन समारोह पूर्वक किया गया. पत्रिका के सहायक संपादक अनुपम परिहार ने आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी युग प्रेरक सम्मान से सम्मानित प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता पद्मश्री सुधा वर्गीज, फिल्म गीतकार मनोज मुंतशिर, दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार प्रेम प्रकाश एवं समाजसेवी मुकेश बहादुर सिंह से विमोचन संपन्न कराया।

सरस्वती पत्रिका इंडियन प्रेस प्रयागराज के संस्थापक बाबू चिंतामणि घोष ने 120 वर्ष पहले वर्ष 1900 में सरस्वती का प्रकाशन प्रारंभ किया था. इसके पहले संपादक बाबू श्यामसुंदर दास नियुक्त हुए थे. वर्ष 1903 में आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी ने सरस्वती पत्रिका का संपादन संभाला और लगातार 1920 तक उन्होंने सरस्वती पत्रिका का संपादन किया. यह कालखंड हिंदी साहित्य में “द्विवेदी युग” के नाम से जाना जाता है. आचार्य द्विवेदी द्वारा स्वास्थ्य कारणों से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने के पश्चात सरस्वती 1980 तक प्रकाशित होती रही लेकिन इसके बाद सरस्वती का प्रकाशन बंद हो गया।

40 वर्ष बाद इंडियन प्रेस प्रयागराज में सरस्वती का पुनः प्रकाशन प्रारंभ किया है. इसके प्रधान संपादक प्रोफ़ेसर देवेंद्र कुमार शुक्ला और सहायक संपादक अनुपम परिहार जी नियुक्त हुए हैं. सरस्वती का पुनर्नवा अंक 300 से ज्यादा पृष्ठों का प्रकाशित हुआ है, इसमें सरस्वती के प्रारंभ से लेकर अंत तक सभी संपादकों का विवरण दर्ज है। सरस्वती के पुनः प्रकाशित होने पर हिंदी भाषी समाज और साहित्यकारों में काफी हर्ष है और सभी को उम्मीद है कि सरस्वती पुनः प्रतिष्ठा प्राप्त कर हिंदी को उत्तरोत्तर प्रगति पर ले जाने में अग्रसर होगी।

socialmedia

VIDEO : लखनऊ में ‘हुनर हाट’ का सीएम योगी ने किया उद्घाटन

Published

on

By

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अवध शिल्पग्राम में सीएम योगी ने ‘हुनर हाट’ का उद्घाटन किया है। आप भी देखें ये वीडियो …

Continue Reading

Trending