Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

आरआरटी टीम अपनी पूरी क्षमता के साथ ट्रेसिंग, टेस्टिंग व दवा वितरण का कार्य करे: रोशन जैकब

Published

on

लखनऊ: ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड संक्रमण पर प्रभावी रोक लगाने के उद्देश्य से जनपदीय नोडल अधिकारी डॉ रोशन जैकब अचानक समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र माल पहुँची। स्वास्थ्य केंद्र पहुँच कर नोडल अधिकारी द्वारा आरआरटी टीमो, सर्विलांस टीम और निगरानी समितियों की समीक्षा की। नोडल अधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि निगरानी समिति में आशा और आंगनबाडी कार्यकत्रियों की संख्या को बढ़ाया जाए और युद्धस्तर पर कार्य किया जाए। साथ ही निर्देश दिया कि आरआरटी टीम अपनी पूरी क्षमता के साथ ट्रेसिंग, टेस्टिंग व दवा वितरण का कार्य करे। सभी घरों को कवर करना सुनिश्चित किया जाए। साथ ही सुपरवाइजर के तौर पर एएनएम की उपस्थिति को अनिवार्य रूप से सुनिश्चित कराया जाए।

अधीक्षक, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, माल द्वारा अवगत कराया गया कि क्षेत्र में 08 आर0आर0टी0 टीमें टेस्टिंग का कार्य कर रही हैं। कुछ आर0आर0टी0 टीमों में 02 एल0टी0 एक साथ कार्य कर रहे हैं, जिसपर नोडल अधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि प्रत्येक टीम में एक एल0टी0 ही रहे तथा दूसरे सदस्य, स्टाफ नर्स, आँगनबाड़ी, आशा बहू आदि होने चाहिये। साथ ही अधीक्षक, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, माल द्वारा अवगत कराया गया कि होम आइसोलेशन में रह रहे सभी मरीजों को समय से मेडिकल किट उपलब्ध करा दी जाती है तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर दवाइयों की कोई भी कमी नहीं है। सी0एच0सी0 पर समीक्षा बैठक के उपरान्त नोडल अधिकारी द्वारा ग्राम मसीढ़ा हमीर जाकर कोविड-19 संबंधी कार्यों का सत्यापन किया गया। मौके पर कोविड-19 धनात्मक व्यक्ति से नोडल अधिकारी द्वारा स्वयं बातचीत की गयी, जिसपर धनात्मक व्यक्ति द्वारा बताया गया कि उसे समय से कोविड-19 की रिपोर्ट तथा मेडिकल किट प्राप्त हुई है और प्रतिदिन कोविड कमान्ड सेन्टर से उन्हें फोन कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली जाती है। उसी ग्राम में नोडल अधिकारी द्वारा आर0आर0टी0 टीम द्वारा किये जा रहे कार्यों को भी देखा गया। आर0आर0टी0 टीम द्वारा निरीक्षण के समय पर 30 लोगों की टेस्टिंग का कार्य किया जा चुका था।

नोडल अधिकारी द्वारा ग्राम में ही कार्य कर रही निगरानी समिति के सदस्यों तथा नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों से भी वार्ता की गयी जिस दौरान निगरानी समिति द्वारा अवगत कराया गया कि गाँव में घर-घर जाकर उनके द्वारा लक्षण युक्त व्यक्तियों को चिन्हित किया जा रहा है तथा मेडिकल किट प्रदान की जा रही है। गाँव में कोविड-19 धनात्मक व्यक्तियों की संख्या के मद्देनजर नोडल अधिकारी द्वारा निर्देश दिये गये कि सम्पूर्ण गाँव में सेनेटाइजेशन का कार्य कराया जाये।

तत्पश्चात् नोडल अधिकारी द्वारा ग्राम नवीपनाह में निगरानी समिति द्वारा किये जा रहे कार्यों का निरीक्षण किया गया। ग्राम में निवास कर रहे तीन चार परिवारों के घरों में जाकर उनसे निगरानी समिति द्वारा किये जा रहे कार्यों के बारे में पूछताछ की गयी। पूछताछ के दौरान निगरानी समिति के कार्य संतोषजनक पाये गये। नोडल अधिकारी द्वारा ग्रामवासियों को मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, साबुन से बार-बार हाथ धोने आदि कोविड-19 के नियमों का पालन करने हेतु कहा गया।

नोडल अधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया निगरानी समिती द्वारा कोविड लक्षण वाले व्यक्ति की सूचना देते ही उसकी तुरन्त टेस्टिंग और दवा वितरण का कार्य करना सुनिश्चित कराया जाए। साथ ही निर्देश दिया कि आरआरटी टीम के कार्यो में तेजी लाने के लिए समस्त ब्लाक में 10-10 आरआरटी टीमो की संख्या को बढ़ाया जाए। ग्रामीण क्षेत्र की पीएचसी को निर्देश दिया गया कि वह होम आइसोलेशन वाले रोगियों के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग करना सुनिश्चित करे। साथ ही निर्देश दिया कि होम आइसोलेशन रोगियों और कोविड लक्षण वाले लोगो को निगरानी समिति के द्वारा तत्काल दवा उपलब्ध कराना सुनिश्चित कराया जाए।

प्रादेशिक

यूपी में बीते 24 घंटे में आए 255 नए केस

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज लोक भवन, लखनऊ में कोविड-19 के संबंध में गठित समितियों के अध्यक्षों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री  ने प्रदेश में बाहर से आने वाले लोगों का एंटीजन टेस्ट कराने हेतु विशेष प्रबंध करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए।

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में कोरोना से स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 16,78,486 हो गई है। प्रदेश में कोविड रिकवरी दर 98.5 फीसदी है, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.1% है। प्रदेश में अब तक 5.57 करोड़ से अधिक टेस्ट संपन्न हो चुके हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 4,000 से कम हो गई है। वर्तमान में 3,910 कोरोना मरीज उपचाराधीन हैं। विगत दिवस 16 जिलों में संक्रमण के नए मामले नहीं मिले, जबकि 55 जिलों में नए केस इकाई में आए हैं।

मुख्यमंत्री योगी को अवगत कराया गया कि विगत 24 घंटे में प्रदेश में 2,44,275 कोविड टेस्ट किए गए हैं। इसी अवधि में संक्रमण के 255 नए मामले आए हैं, जबकि 397 मरीज उपचारित होकर स्वस्थ हुए हैं। 2,525 लोग होम आइसोलेशन में हैं। सीएम योगी ने कहा कि 21 जून को निर्धारित 06 लाख वैक्सीनेशन के सापेक्ष 07,29,197 लोगों को टीका-कवर प्रदान किया गया। अब तक 2.63 करोड़ से अधिक वैक्सीन की डोज दी जा चुकी हैं।

01 जुलाई से प्रतिदिन 10-12 लाख वैक्सीनेशन के लक्ष्य के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएं। उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशनों, बस स्टेशनों, हवाई अड्डों पर प्रदेश में बाहर से आने वाले लोगों के एंटीजन टेस्ट हेतु विशेष प्रबंध किए जाएं। आवश्यकतानुसार RT-PCR टेस्ट भी कराया जाए। पॉजिटिव पाए जा रहे लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग भी कराई जाए।

 

Continue Reading

Trending