Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

कार नहीं रोकी पुलिस वालों ने छात्र को मारीं सात गोलियां, मौके पर ही मौत

Published

on

इस्लामाबाद| पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां पुलिस वालों ने एक छात्र की सिर्फ इसलिए गोली मारकर हत्या कर दी क्योंकि उसने इनके कहने पर अपनी कार नहीं रोकी। छात्र को पुलिस वालों ने करीब सात गोलियां मारीं। इस घटना से पाकिस्तानी जनता में रोष है। लोग इन पुलिस वालों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग कर रहे हैं।

उस्मा नदीम सत्ती, जो सेक्टर एच-11 इस्लामाबाद में नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (एनयूएसटी) में अपने चचेरे भाई को छोड़ने के बाद घर जा रहा था, को आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) के कम से कम पांच कर्मियों द्वारा रोका गया। उसने कथित तौर पर कार को नहीं रोका, जिसके बाद एटीएस के जवानों ने कार को गोलियों से छलनी कर दिया।

पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (पीआईएमएस) के एक प्रवक्ता ने कहा, “कम से कम सात गोलियां सिर और सीने सहित शरीर के विभिन्न हिस्सों में लगीं।” इस घटना से गुस्साये सत्ती के परिवार के सदस्यों ने मुख्य राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया। कार पर 22 गोली चलाने वाले सभी पांच पुलिस अधिकारियों के खिलाफ पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 302/34, 14 बी, 149 के तहत एफआईआर दर्ज किया गया है। पुलिस अधिकारियों द्वारा प्रारंभिक जांच के अनुसार, मृत छात्र की बेगुनाही की पुष्टि हो गई है, यह पांचों पुलिस अधिकारियों की गलती है, क्योंकि उन्होंने कार रोकने केअन्य विकल्पों पर गौर नहीं किया।

 

अन्तर्राष्ट्रीय

इजरायल ने अपने नागरिकों को मास्क न पहनने के दिए आदेश

Published

on

नई दिल्ली। जहां पूरी दुनिया इस समय कोरोना नामक महामारी से जूझ रही है और अपने नागरिकों को मास्क पहनने के लिए कह रही है वहीं इसके उलट इजरायल सरकार ने अपने नागरिकों से कहा है कि अब उन्हें मास्क पहनने की अनिवार्यता नहीं है।

दरअसल, 81 फीसदी जनता के टीकाकरण के बाद इजरायल ने मास्क पहनकर निकलने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। इसके बाद अधिकतर लोगों ने चेहरे से मास्क उतार फेंका है। मास्क हटाने का आदेश देने वाला इजरायल दुनिया का पहला देश है।

इजरायल में 16 साल से अधिक उम्र के 81 फीसदी नागरिकों और निवासियों को कोरोना का दोनों टीका लग चुका है। इसके बाद यहां यहां कोरोना संक्रमण और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में तेजी से गिरावट आई है।

Continue Reading

Trending