Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

वैज्ञानिकों ने खोजी ऐसी चीज, बेचने पर दुनिया का हर शख्स बन जाएगा अरबपति

Published

on

नई दिल्ली। नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) के वैज्ञानिकों के हाथ ऐसी चीज लगी है जिससे पृथ्वी पर मौजूद हर शख्स अरबपति बन सकता है।

दरअसल, नासा के वैज्ञानिकों ने एक ऐसा एस्टेरॉयड (छोटा तारा) खोज निकाला है जो पूरा का पूरा लोहे का है। अगर इस लोहे को बेचा जाए तो पृथ्वी पर रहने वाले हर आदमी के हिस्से में करीब 1 बिलियन पाउंड यानी 9621 करोड़ रुपये आएंगे।

नासा ने इस एस्टेरॉयड का नाम 16 साइकी (16 Psyche) रखा है। अनुमान के मुताबिक इस पूरे एस्टेरॉयड पर मौजूद लोहे की कुल कीमत करीब 8000 क्वॉड्रिलियन पाउंड है।

ब्रिटिश मैग्जीन द टाइम्स के अनुसार 8000 क्वॉड्रिलियन पाउंड (8,000,000,000,000,000,000 पाउंड) यानी धरती पर मौजूद हर आदमी को 1 बिलियन पाउंड यानी 9621 करोड़ रुपये मिलेंगे। यह कीमत उस छोटे तारे पर मौजूद लोहे की है।

नासा ने स्पेस एक्स के मालिक एलन मस्क से मदद मांगते हुए कहा है कि वे इस एस्टेरॉयड पर मौजूद लोहे की जांच के लिए अपने अंतरिक्षयान से मिशन शुरू करें।

इस एस्टेरॉयड का व्यास 226 किलोमीटर है। यह हमारे सूरज के चारों तरफ एक चक्कर पांच साल में लगाता है। इसका एक दिन 4.196 घंटे का होता है।

इसका वजन धरती के चंद्रमा के वजन का करीब 1 फीसदी ही है। लेकिन यह पूरा एस्टेरॉयड लोहे का है। यह मंगल और बृहस्पति ग्रह के बीच में मौजूद है।

नासा का कहना है कि इस एस्टेरॉयड को धरती के करीब लाने की कोई योजना नहीं है। लेकिन इसपर जाकर इसके लोहे की जांच करने की योजना बनाई जा रही है।

अगर स्पेस एक्स अपने अंतरिक्षयान से कोई रोबोटिक मिशन इस एस्टेरॉयड पर भेजेगा तो उसे वहां जाकर अध्ययन करके वापस आने में सात साल लगेंगे।

 

 

 

अन्तर्राष्ट्रीय

इजरायल ने अपने नागरिकों को मास्क न पहनने के दिए आदेश

Published

on

नई दिल्ली। जहां पूरी दुनिया इस समय कोरोना नामक महामारी से जूझ रही है और अपने नागरिकों को मास्क पहनने के लिए कह रही है वहीं इसके उलट इजरायल सरकार ने अपने नागरिकों से कहा है कि अब उन्हें मास्क पहनने की अनिवार्यता नहीं है।

दरअसल, 81 फीसदी जनता के टीकाकरण के बाद इजरायल ने मास्क पहनकर निकलने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। इसके बाद अधिकतर लोगों ने चेहरे से मास्क उतार फेंका है। मास्क हटाने का आदेश देने वाला इजरायल दुनिया का पहला देश है।

इजरायल में 16 साल से अधिक उम्र के 81 फीसदी नागरिकों और निवासियों को कोरोना का दोनों टीका लग चुका है। इसके बाद यहां यहां कोरोना संक्रमण और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में तेजी से गिरावट आई है।

Continue Reading

Trending