Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

नेशनल

वेब सीरीज ‘तांडव’ को लेकर मायावती ने किया ट्वीट, जिन दृश्यों पर विवाद उन्हें हटाया जाए

Published

on

लखनऊ। वेब सीरीज तांडव को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। तमाम हिन्दू संगठनों ने इसके मेकर्स और एक्टर्स के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। वेब सीरीज ‘तांडव’ में हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान और जातिगत भावनाओं को भड़काने का काम किया गया है।

वहीँ, बहुजन समाज पार्टी के मुखिया मायावती ने भी इस मामले में अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कहा है कि इस वेब सीरीज में जिन दृश्यों को लेकर विवाद है, उन्हें हटा देना चाहिये। बसपा सुप्रीमो ने ट्वीट करते हुये कहा कि, ”तांडव वेब सीरीज में धार्मिक व जातीय आदि भावना को आहत करने वाले दृश्यों को लेकर विरोध दर्ज किये जा रहे हैं, जिसके संबंध में जो भी आपत्तिजनक है उन्हें हटा दिया जाना उचित होगा ताकि देश में कहीं भी शान्ति, सौहार्द व आपसी भाईचारे का वातावरण खराब न हो।”

इस सीन को लेकर है विवाद

सोशल मीडिया पर वेब सीरीज का एक सीन वायरल हो रहा है। इसमें कॉलेज में हो रहे एक प्ले में मोहम्मद जीशान अयूब भगवान शिव की भूमिका निभाते नजर आ रहे हैं। लेकिन इसे बड़े मजाकिया अंदाज में पेश किया गया है। इतना ही नहीं एक बारगी वे गाली देते भी सुने जा सकते हैं।

लखनऊ में एफआईआर दर्ज

लखनऊ पुलिस द्वारा हजरतगंज कोतवाली में वेब सीरीज तांडव को बनाने और रिलीज़ कराने वालों के खिलाफ गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज करा दी गई है। हजरतगंज थाने के वरिष्ठ उपनिरीक्षक अमरनाथ यादव की तहरीर पर तांडव वेब सीरीज को रिलीज कराने वाले OTT प्लेटफॉर्म अमेज़न प्राइम वीडियो की ओरिजनल कंटेंट हेड इंडिया अपर्णा पुरोहित, तांडव वेब सीरीज़ के डायरेक्टर अली अब्बास जफर, प्रोड्यूसर हिमांशु कृष्णा मेहरा और राइटर गौरव सोलंकी के खिलाफ नामजद और एक अन्य अज्ञात समेत 5 लोगों के खिलाफ हजरतगंज थाने में कई गंभीर धाराओं में एफआईआर कराई गई है।

बता दें, तांडव को बीते शुक्रवार को अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज किया गया। वेब सीरीज में सैफ अली खान के अलावा कुमुद मिश्रा, डिंपल कपाड़िया, तिंग्माशु धूलिया, सुनील ग्रोवर, डीनो मोरिया और कृति कामरा अहम भूमिका में हैं।

नेशनल

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान- 1 मार्च से बुजुर्गों को लगेगी वैक्सीन

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीन टीकाकरण को लेकर बुधवार को भारत सरकार ने बड़ा ऐलान किया। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि 1 मार्च से 60 साल की उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगने लगेगी साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि 45 साल की उम्र के लोग जो पहले से किसी बीमारी से जूझ रहे हैं उन्हें भी वैक्सीन दी जाएगी।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि टीकाकरण के लिए सरकारी और प्राइवेट वैक्सीनेशन सेंटर बनाए जाएंगे। प्राइवेट सेंटर पर लोगों को पैसे खर्च करने पड़ेंगे, जबकि सरकारी सेंटर्स पर यह वैक्सीन मुफ्त में लगवाई जा सकेगी।

उन्होंने कहा, ‘जो लोग प्राइवेट अस्पताल में कोरोना की वैक्सीन लगवाना चाहेंगे, उन्हें पैसे खर्च करने पड़ेंगे। अस्पतालों और मैन्युफैक्चरर्स से बात करने के बाद आने वाले दो-तीन दिनों में प्राइवेट सेंटर पर लगने वाले पैसों के बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय फैसला ले लेगा।”

 

Continue Reading

Trending