Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

इस शख्स को अस्पताल में भर्ती कराने में लोगों के छूटे पसीने, बुलानी पड़ी सेना

Published

on

नई दिल्ली। दुनिया में इन दिनों ज्यादातर लोग मोटापे का शिकार हो रहे हैं। दुनियाभर में लगभग हर घर में एक इंसान आपको मोटा जरूर मिल जाएगा।

आज हम आपको मोटापे से जुड़ी एक ऐसी खबर बताएंगे जिसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। आपको जानकर हैरत होगी कि पाकिस्तान में एक शख्स को अस्पताल पहुंचाने के लिए सेना की मदद लेनी पड़ी।

दरअसल, पंजाब क्षेत्र के सादिकाबाद जिले के रहने वाले नूर हसन की अचानक तबीयत खराब हो गई लेकिन उनके 330 किलो वजन की वजह से उन्हें अस्पताल ले जाना नामुमकिन था।

इसके बाद नूर ने सोशल मीडिया पर पाकिस्तानी सेनाध्यक्ष जनरल कमर बाजवा से मदद मांगी। बाजवा ने नूर की इस गुहार पर विशेष व्यवस्था की।

रिर्पोटस की मानें तो लाहौर के अस्पताल में लैप्रोस्कोपिक सर्जरी के माध्यम से उसका उपचार किया जाएगा। हसन को अस्पताल ले जाने के लिए लोगों ने उनके घर की दीवार को तोड़नी पड़ी क्योंकि घर के मेन गेट से उन्हें बाहर निकालना संभव नहीं था। हसन अपने इतने ज्यादा वजन के कारण अपने आप कहीं आ-जा नहीं सकते हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय

मैक्सिको की एंड्रिया मेजा ने जीता मिस यूनिवर्स 2020 का खिताब

Published

on

नई दिल्ली। मैक्सिको की एंड्रिया मेजा ने मिस यूनिवर्स 2020 का खिताब अपने नाम कर लिया है। मिस यूनिवर्स बनने के बाद उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रही हैं। फ्लोरिडा में इस प्रतियोगिता में एंड्रिया समेत 73 गॉर्जियस वुमेन्स ने हिस्सा लिया था।

पूर्व मिस यूनिवर्स जोजिबिनी टूंजी ने विश्व सुंदरी का ताज मैक्सिको की एंड्रिया मेजा को पहनाया। बता दें,  मिस यूनिवर्स 2020 प्रतियोगिता में ब्राजिल की फर्स्ट रनरअप रहीं। वहीं पेरू की सेकंड रनरअप रहीं। भारत की थर्ड रनरअप और डोमिनिकन रिपब्लिक की फोर्थ रनरअप बनीं।

प्रतियोगिता के अंतिम राउंड में एंड्रिया से सवाल किया गया कि अगर आप देश की नेता होतीं तो कोरोना वायरस महामारी से कैसे निपटती? इसके जवाब में एंड्रिया ने कहा कि, ‘मेरा मानना है कि ऐसी कठिन परिस्थिति को संभालने का कोई एकदम सटीक तरीका नहीं है। हालांकि मैंने स्थिति बिगड़ने से पहले ही लॉकडाउन लगा दिया होता जिससे इतनी संख्या में लोगों की मत्यु नहीं होती। हम लोगों की जिंदगी इस तरह से बिखरते नहीं देख सकते और इसलिए मैंने शुरूआत से ही स्थिति को संभालने की कोशिश की होती’।

Continue Reading

Trending