Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

गांव में ही था छिपा था बदायूं हैवानियत का मुख्य गुनहगार, गिरफ्तार

Published

on

बदायूं | उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में एक महिला के साथ गैंगरेप और हत्या के मामले में मुख्य आरोपी सत्यनारायण को पुलिस ने गुरुवार रात गिरफ्तार कर लिया है। सत्यनारायण पर पुलिस ने 50 हजार रु का इनाम घोषित किया हुआ था। हैरानी की बात ये है कि जिस सत्यनारायण की तलाश में पुलिस टीमें उत्तराखंड, बरेली, चंदौसी और कासगंज में दबिश देती रहीं वो घटना के बाद से ही उसी गाँव में छिपा रहा।

हालांकि बदायूं पुलिस ने घटना के बाद से ही पूरे उघैती इलाके की नाकेबंदी कर रखी थी। गुरुवार की रात करीब 10 बजे मेवली गांव के लोगों को एक महिला के घर में किसी व्यक्ति के छिपे होने की जानकारी मिली। गांव वालों ने जब घर में जाकर महिला से पूछा तो उसने मना कर दिया। शक होने पर कुछ लोगों ने पुलिस को सूचना दी।

एडीजी की स्पेशल टीम भी गांव में पहुंच गई। एसएसपी बदायूं उघैती थाने की पुलिस भी वहां आ गई। इसी दौरान लोग महिला के घर में घुस गए। भीड़ को देखकर पुजारी ने भागने की कोशिश की। इसी दौरान ग्रामीणों और पुलिस ने उसे पकड़ लिया। जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उसे शरण देने वाले युवक को भी पुलिस थाने लेकर आई है।

बता दें कि रविवार को उघैती क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली आंगनबाड़ी सहायिका धर्मस्थल में पूजा करने गई थीं। वहीं महंत सत्यनारायण, उसके साथी वेदराम व जसपाल ने महिला के साथ गैंगरेप किया। दरिंदे यहीं नहीं रुके, उन्होंने महिला के प्राइवेट पार्ट्स में भी लोहे की रॉड से चोट पहुंचाई। जिसके बाद अधिक खून बाह जाने से महिला की मौत हो गई थी। पुलिस ने घटना के बाद दो आरोपियों वेदराम व जसपाल को गिरफ्तार कर लिया था।

प्रादेशिक

कोरोना से हुई मौत पर केजरीवाल सरकार परिवार को देगी 50000 मुआवजा

Published

on

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की रफ्तार अब थोड़ी कम होती दिख रही है। राष्ट्रीय राजधानी में लंबे समय से कहर बरपा रहे इस वायरस की स्पीड पर ब्रेक लगता नजर आ रहा है।

ठीक होते हालात के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री पर मंगलवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि इस संकट के वक्त में दिल्ली सरकार चार बड़े कदम उठाने जा रही है।

1-सीएम ने कहा कि जिनके पास राशन कार्ड है, पहले उनसे थोड़े पैसे लिए जाते थे, लेकिन अब उनसे पैसा नहीं लिया जाएगा। हर कार्डधारी को 10 किलो मुफ्त राशन मिलेगा। इसके अलावा जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, अगर वो बताएंगे कि उन्हें राशन की जरूरत है तो उन्हें भी राशन मुफ्त दिया जाएगा।

2- सीएम ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जारी इस जंग में कुछ परिवार बेहद मुश्किल हालातों का सामना कर रहे हैं। प्रत्येक परिवार को जिसमें किसी की मौत कोरोना के कारण हुई है, अनुग्रह राशि के रूप में 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

3- जिस परिवार में कमाने वाले व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई उस परिवार को ₹50000 मुआवजे के साथ-साथ 2500 रुपये महीना पेंशन दी जाएगी।

4- ऐसे बच्चे जिनके दोनों मां बाप की मौत हो गई है उनके बच्चों को 25 साल उम्र तक हर महीने 2500 रुपये मिलेंगे। इसके अलावा शिक्षा का सारा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी।

Continue Reading

Trending