Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

लालू प्रसाद यादव को हाई कोर्ट से मिली बड़ी राहत, अदालत ने दी सशर्त जमानत

Published

on

पटना। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को झारखंड उच्च न्यायालय से बड़ी राहत मिली है। चारा घोटाले के दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में उच्च न्यायालय ने उन्हें सशर्त जमानत दे दी है। हाई कोर्ट के इस फैसले के बाद लालू करीब 40 माह बाद जेल से बाहर आ सकेंगे।

लालू की जमानत को लेकर मामला नौ अप्रैल को भी सुनवाई के लिए सूचीबद्ध था, लेकिन सीबीआई ने जवाब दाखिल करने के लिए अदालत से समय मांगा था। लेकिन शनिवार को हुई सुनवाई में लालू यादव को जमानत दी गई है। लालू को जेल से बाहर आने के लिए 1 लाख रुपए का निजी मुचलका और 10 लाख रूपए जुर्माना भरना होगा। इसके अलावा उन्हें अपना पासपोर्ट भी जमा करना होगा। फिलहाल, राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष का दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा है।

बता दें कि लालू प्रसाद के खिलाफ झारखंड में पांच मामले चल रहे थे। चार मामलों में उन्हें जमानत मिल गयी थी। पांचवा मामला डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित है। सीबीआई कोर्ट में इस मामले की सुनवाई अभी चल रही है। अब सभी मामलों में जमानत मिलने के बाद उनके जेल से बाहर आने का रास्ता साफ हो गया है।

प्रादेशिक

शिवसेना के स्थापना दिवस पर बोले उद्धव ठाकरे- हिंदुत्व और मराठा की अस्मिता पार्टी की प्राथमिकता

Published

on

मुंबई। महाराष्ट्र में शिवसेना और कांग्रेस के बीच खींचतान बढ़ती जा रही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पार्टी के स्थापना दिवस के मौके पर दिए बयान को सुनकर सियासी हलचल और तेज होती हुई नज़र आ रही है।

महाविकास अघाड़ी गठबंधन में बनी महाराष्ट्र सरकार के बीच अब तकरार देखने को मिल रही है। शनिवार को पार्टी के 55वें स्थापना दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के दिये गये बयान के बाद शिवसेना और कांग्रेस के बीच दरार की खाई और गहरी हो गई है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने स्थापना दिवस के मौके पर कहा कि हिंदुत्व और मराठा की अस्मिता पार्टी की प्राथमिकता है। उन्होने कांग्रेस का नाम बिना लिए उसपर हमला करते हुए बोला कि जो लोग अकेले चुनाव लड़ने की बात कर रहें हैं, उन्हें जनता चप्पलों से मारेगी। आपको बताते चलें कि नाना पटोले कई बार अकेले चुनाव लड़ने की बात कर चुके हैं।

मुख्यमंत्री के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत का बड़ा बयान

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि जो लोग अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं, वो लड़ सकते हैं। उन्होने आगे बोलते हुए कहा कि क्या हम चुपचाप बैठकर देखेंगे? शिवसेना ने अपने बल पर राजनीतिक युद्ध लड़ा हैं। उन्होंने आगे कहा कि चुनाव के समय भले ही गठबंधन हो सकता हैं पर चुनाव अपने बल पर ही लड़ा जाता हैं। संजय राउत ने कहाँ कि चाहे ये मुद्दा महाराष्ट्र की शाखा का हो या शिवसेना के आस्तित्व का, अगर हमें लड़ना होगा तो हम लड़ेगे।

Continue Reading

Trending