Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

नेशनल

ट्रैक्टर रैलीः आउटर रिंग रोड पहुंचे किसान, ITO पहुंचा गाजीपुर से निकला मार्च

Published

on

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के विरोध में लगातार 2 महीने से घरने पर बैठे किसान आज यानी गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिल्ली के आसपास के इलाकों में ट्रैक्टर परेड निकाल रहे हैं। इस दौरान कई जगहों पर किसानों और पुलिस के बीच भिड़ंत देखने को मिली। कुछ जगहों पर पुलिस को आंसू गैस के गोले तक छोड़ने पड़े।

सिंघु बॉर्डर से निकलने के बाद किसानों के जत्थे ने अचानक रूट बदल दिया जिसके बाद पुलिस और किसानों के बीच भिड़ंत हो गई। इसके बाद सिंघु बॉर्डर से निकले किसानों का जत्था आउटर रिंग रोड पर पहुंच गया। किसान आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर मार्च निकाल रहे हैं।

बता दें कि पुलिस ने किसानों को आउटर रिंग रोड पर मार्च निकालने की इजाजत नहीं दी थी, लेकिन आज सुबह ही किसान अड़ गए थे और बैरिकेड्स को तोड़ते हुए किसान आउटर रिंग रोड पर पहुंच गए हैं। वहीं गाजीपुर बॉर्डर से निकलकर किसान अक्षरधाम को पार कर ITO पहुंच गया है। वहीं सुरक्षा के लिहाज से दिल्ली पुलिस पूरी तरह अलर्ट नजर आ रही है। पुलिस ने आश्रम के पास की सड़क को ब्लॉक कर दिया है।

नेशनल

आईएमए के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ केके अग्रवाल का कोरोना से निधन

Published

on

नई दिल्ली। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ केके अग्रवाल का सोमवार को कोरोना वायरस की वजह से निधन हो गया। दिल्ली के एम्स में उन्होंने अंतिम सांस ली।

62 वर्षीय केके अग्रवाल पिछले कई दिनों से एम्स में भर्ती थे। उन्हें एक सप्ताह से वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। 2010 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा दिल्ली में की और नागपुर विश्वविद्यालय से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी की थी।

पिछले एक साल से, वह कोविड महामारी पर वीडियो पोस्ट कर रहे थे और बीमारी के विभिन्न पहलुओं और इसके प्रबंधन के बारे में बात कर रहे थे। उनके ट्विटर प्रोफाइल पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा गया, “महामारी के दौरान भी, उन्होंने जनता को शिक्षित करने के लिए निरंतर प्रयास किए। इस दौरान उन्होंने कई वीडियो और शैक्षिक कार्यक्रमों के माध्यम से 10 करोड़ लोगों तक पहुंचने में सक्षम थे और अनगिनत लोगों की जान बचाई। वह चाहते थे कि उनके जीवन का जश्न मनाया जाए और शोक न किया जाए।”

Continue Reading

Trending