Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

नेशनल

दिल्ली में फिर लग सकता है लॉकडाउन, सीएम केजरीवाल ने केंद्र से मांगी इजाजत

Published

on

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर लॉकडाउन लग सकता है। हालांकि ये पूरी दिल्ली में न होकर केवल उन इलाकों में होगा जहां संक्रमण की दर ज्यादा है या फिर संक्रमण के केस लगातार बढ़ रहे हैं। सीएम केजरीवाल ने इस बात के संकेत दे दिए हैं। उन्होंने इस बाबत केंद्र सरकार से इजाजत भी मांगी है। इतना ही नहीं केजरीवाल ने शादी में 200 लोगों के इकठ्ठा होने पर रोक भी लगा दी है। अब किसी शादी, पार्टी में 50 से ज्यादा लोग इकठ्ठा नहीं हो सकेंगे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की स्थिति सामान्य होने पर पहले 50 से यह संख्या 200 तक बढ़ाई गई थी, जिसे अब फिर से वापस ले लिया गया है। केजरीवाल ने कहा क‍ि कुछ बाजारों में दिवाली के समय काफी लापरवाही देखने को मिली। लोग न मास्‍क पहन रहे थे, न सोशल डिस्‍टेंसिंग का ध्‍यान रख रहे थे।

सीएम ने कहा क‍ि अगर हमने पाया कि बाजारों में मास्‍क, सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन नहीं किया जा रहा और वो जगह कोरोना हॉटस्‍पॉट बन सकती है तो वहां पर कुछ दिनों के लिए बंद करने की इजाजत दिल्‍ली सरकार को दी जाए। ऐसा प्रस्‍ताव केंद्र सरकार को भेजा जा रहा है।

नेशनल

भारत बायोटेक ने जारी किया बयान- ऐसे लोग भूल से भी न लगवाएं वैक्सीन

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना से निपटने के लिए भारत में वैक्सीनेशन की शुरुआत हो चुकी है। इसी बीच भारत बायोटेक ने फैक्टशीट जारी करके बताया है कि किस बीमारी या अवस्था में लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए।

सोमवार को कंपनी की वेबसाइट पर अपलोडेड फैक्टशीट के माध्यम से भारत बायोटेक ने ऐसे लोगों को कोवैक्सीन का टीका नहीं लगवाने की सलाह दी है, जिन्हें कुछ समय से एलर्जी, बुखार, ब्लीडिंग डिसऑर्डर की शिकायत रही हो। साथ ही जिनकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है या दवाई ले रहे हैं या फिर जिसका प्रतिरक्षा प्रणाली पर असर हो सकता है। कंपनी की वेबसाइट पर अपलोड किए गए एक बयान में कहा गया है कि कोवैक्सीन का टीका गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी वर्जित है। साथ ही जिन्होंने दूसरी वैक्सीन ली है, या फिर किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं, वे भी कोवैक्सीन का टीका न लें।

यहां यह जानना जरूरी है कि सरकार ने भी एक दिशा-निर्देश जारी कर बीते दिनों स्पष्ट कर दिया था कि गर्भवती महिला और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को वैक्सीन लेने की अभी जरूरत नहीं है। भारत बायोटेक ने वैक्सीन की संभावित प्रतिकूल घटनाओं और वैक्सीन के लिए योग्य लोगों का विवरण देते हुए यह फैक्टशीट जारी किया है। इसमें कहा गया है कि इसका बहुत ही कम चांस है कि कोवैक्सीन से सांस लेने में कठिनाई, चेहरे/गले की सूजन/ तेजी से दिल धड़कना, पूरे शरीर में चकत्ते और कमजोरी सहित एलर्जी की गंभीर प्रतिक्रिया पैदा हो सकती हैं।

 

Continue Reading

Trending