Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

किसान आंदोलन का फायदा उठाकर पंजाबी समुदाय को भड़काने में जुटा पाकिस्तान

Published

on

नई दिल्ली। कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग को लेकर किसान 26 नवंबर से दिल्ली के बॉर्डर पर डटे हैं। 19 दिन हो गए हैं लेकिन किसान टस से मस होने को तैयार नहीं हैं। किसान सिंधु, टिकरी, पलवल, गाजीपुर सहित कई नाकों पर डटे हैं। वहीं तीनों कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर आज किसान नेताओं का धरना प्रदर्शन और भूख हड़ताल का कार्यक्रम है। इस बीच किसानों की आड़ लेकर पाकिस्तान भी भारत के पंजाबियों को भड़काने में लग गया है।

पाकिस्‍तान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने कृषि कानूनों को लेकर भारत में किसानों के विरोध प्रदर्शन का फायदा उठाने की कोशिश की है। चौधरी ने ट्विटर पर कहा कि भारत की स्थिति के कारण पंजाबियों को दुनिया भर में पीड़ा हो रही है। उन्‍होंने लिखा, “भारत में जो कुछ भी हो रहा है, उस पर दुनिया भर के पंजाबी समुदाय में दर्द हैं। महाराजा रणजीत सिंह की मृत्यु के बाद से पंजाबियों को एक दूसरे रास्ते की घेराबंदी करनी पड़ रही है। पंजाबियों ने अपने खून से आजादी की कीमत चुकाई, पंजाबी अपने ही मुर्खता के कारण शिकार हो रहे हैं।”

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी भारत के खिलाफ एक बयान में यह कहने की कोशिश की कि भारत में लोकतंत्र को कमजोर कर रहा है। भारत को “दुष्ट राज्य” कहते हुए, उन्होंने नई दिल्ली पर “विश्व व्यवस्था की स्थिरता के लिए खतरा” बनने का आरोप लगाया। उन्होंने ट्विटर पर कहा, “पाकिस्तान ने क्षेत्र में लोकतंत्र को कमजोर करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान लगातार आकर्षित किया है। फेक समाचार संगठनों और थिंक टैंक की संरचनाओं के माध्यम से/चरमपंथियों को निर्यात/फंड चरमपंथ की ओर आकर्षित किया है।

अन्तर्राष्ट्रीय

इजरायल ने अपने नागरिकों को मास्क न पहनने के दिए आदेश

Published

on

नई दिल्ली। जहां पूरी दुनिया इस समय कोरोना नामक महामारी से जूझ रही है और अपने नागरिकों को मास्क पहनने के लिए कह रही है वहीं इसके उलट इजरायल सरकार ने अपने नागरिकों से कहा है कि अब उन्हें मास्क पहनने की अनिवार्यता नहीं है।

दरअसल, 81 फीसदी जनता के टीकाकरण के बाद इजरायल ने मास्क पहनकर निकलने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। इसके बाद अधिकतर लोगों ने चेहरे से मास्क उतार फेंका है। मास्क हटाने का आदेश देने वाला इजरायल दुनिया का पहला देश है।

इजरायल में 16 साल से अधिक उम्र के 81 फीसदी नागरिकों और निवासियों को कोरोना का दोनों टीका लग चुका है। इसके बाद यहां यहां कोरोना संक्रमण और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में तेजी से गिरावट आई है।

Continue Reading

Trending