Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

आईआईटी रुड़की दीक्षांत समारोह कार्यक्रम में शामिल हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

Published

on

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आईआईटी रूड़की के वार्षिक दीक्षांत समारोह में छात्र-छात्राओं को उपाधियां वितरित की। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आईआईटी रूड़की जैसे संस्थान शिक्षा के केंद्र मात्र नहीं हैं। ये नवाचार और रचनात्मक विचारों के हब भी हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि वर्तमान में वैज्ञानिक और तकनीकी संस्थाओं में छात्राओं का अनुपात अपेक्षाकृत कम है। उच्च स्तरीय तकनीकी संस्थाओं में छात्राओं की संख्या बढ़ाने के लिए जरूरी कदम उठाने होंगे। जब ऐसा होगा तो हमारी विज्ञान संबंधी उपलब्धियां अधिक वांछनीय और हितकारी हो सकेंगी।

राष्ट्रपति ने कहा कि जून 2018 में राज्यपाल सम्मेलन में उन्होंने सुझाव दिया था कि विश्वविद्यालय ‘यूनिवर्सिटी सोशल रेस्पोंसिबिलिटी’ को अपनाएं। खुशी है कि आईआईटी रूड़की के छात्रों ने सामुदायिक कार्यों में सक्रिय भागीदारी निभाई है। उत्तराखण्ड में उन्होंने पांच गांव चिन्हित किए हैं और इन गांवों की जल प्रबंधन, स्वच्छता, दक्षता विकास आदि समस्याओं का समाधान करने के लिए ग्रामीणों के साथ काम कर रहे हैं। इसके अलावा स्वच्छता ही सेवा के तहत हरिद्वार व रूड़की में गंगा घाट पर गंगा स्वच्छता अभियान में प्रतिभागिता की है। इस तरह की पहल कर आईआईटी रूड़की के छात्रों ने ‘यूनिवर्सिटी सोशल रेस्पोंसिबिलिटी’ को कार्यरूप दिया है।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आईआईटी रूड़की के उपाधि धारकों को बधाई देते हुए कहा कि मानव व्यवहार से तकनीक को सहजता से जोड़ना, शिक्षित व्यक्ति का कर्तव्य है। प्राप्त शिक्षा का उपयोग, देश के कल्याण में किस तरह से किया जा सकता है, इस पर विचार करें।  उन्होंने कहा कि कठिन प्रतिस्पर्धा के दौर में छात्रों का जीवन काफी तनावपूर्ण हो रहा है। ऐसे में प्रधानमंत्री के योग के संदेश को अपनाने की जरूरत है। इससे जीवन तनावमुक्त होता है और नई ऊर्जा का संचार होता है। तभी फिट इंडिया का स्वप्न साकार होगा।

”प्रधानमंत्री ने 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का संकल्प लिया है। इसमें हम सभी को सहभागी बनना है। देश को मजबूत करने में अपना योगदान करना है।” सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आगे कहा।

प्रादेशिक

दिल्ली में कम हुई संक्रमण की रफ्तार, बीते 24 घंटे में 4524 नए केस

Published

on

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अब कोरोना का कहर कम होने लगा है। दिल्ली में कोरोना के नए मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। ताजा आंकड़ो के मुताबिक राज्य में बीते 24 घंटे में कोरोना के 4524 नए मामले सामने आए हैं।

इसके साथ राहत की खबर ये भी है कि दिल्ली में कोरोना पॉजिटिविटी रेट दहाई से इकाई के अंक में पहुंच गया है। जारी आंकड़ो के अनुसार बीते दिन पॉजिटिविटी रेट 8.42% रहा। यह 8 अप्रैल के बाद सबसे कम है।

पिछले 24 घंटों में 4524 नए मामले सामने आए जोकि 5 अप्रैल के बाद सबसे कम मामले हैं। राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 56049 है। यह आंकड़ा भी 15 अप्रैल के बाद सबसे कम है।

हालांकि दिल्ली में कोरोना से होने वाली मौतों के मामले रुक नहीं रहे हैं। दिल्ली में पिछले 24 घंटों में 340 मरीजों की मौत हुई है. सूबे मेें होम आइसोलेशन में कुल मरीज़ों की संख्या 35141 है।

Continue Reading

Trending