Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

मुख्य समाचार

थकान, सांस में तकलीफ हो सकते हैं हृदयरोग के लक्षण

Published

on

लोग सांस लेने में तकलीफ, थकान, उल्टी, टखनों में सूजन की शिकायतों नजरंदाज कर देते हैं, मगर ये दिल की बीमारी के भी लक्षण हो सकते हैं।

एक अध्ययन के मुताबिक भारत में दिल की बीमारी की पहचान होने के एक साल के भीतर करीब 23 फीसदी मरीजों की मौत हो जाती है।दिल की बीमारी कोई लाइलाज बीमारी नहीं है। देश में आज हर तरह के दिल के मरीजों का इलाज संभव है मगर एहतियात सबसे ज्यादा जरूरी है। ऐहतियात नहीं बरतने और वक्त पर ईलाज नहीं होने पर दिल की बीमारी से पीड़ित मरीजों को बचाना मुश्किल हो जाता है।

राजकोट के अस्पताल में लगी भीषण आग, पांच की मौत

दिल की बीमारी के खतरों को कम करने के लिए मरीजों को मधुमेह, उच्च रक्तचाप, सांस व फेफड़े संबंधी अन्य तकलीफों को नियंत्रण में रखना जरूरी होता है।सांस लेने में तकलीफ, थकान, उल्टी, टखनों में सूजन की शिकायतों को लोग अक्सर नजरंदाज कर देते हैं, लेकिन ये दिल की बीमारी के भी लक्षण हो सकते हैं। इसलिए दिल संबंधी बीमारी की जांच करवानी चाहिए।

फेफड़ा व हृदय के प्रत्यारोपण के लिए डोनर मिलना चुनौतीपूर्ण कार्य है। क्योंकि ऐसे अंग दुर्घटना के शिकार हुए लोगों के ब्रेन डेड होने पर ही उनके अंग दान किए जाते हैं। लिहाजा, उनके परिजनों द्वारा तत्काल अंगदान के लिए फैसला लेना काफी महत्वपूर्ण होता है।

socialmedia

पिछले 24 घंटे में यूपी में सामने आए कोरोना के 390 मामले

Published

on

By

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 390 नए मामले सामने आए हैं। अब तक कुल 5,81,164 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं।

अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बने जो बाइडेन, पीएम मोदी ने दी बधाई

प्रमुख सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य आलोक कुमार ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,29,298 सैम्पल की जांच की गई। प्रदेश में अब तक कुल 2,65,76,008 सैम्पल की जांच की गई है।

ई-संजीवनी पोर्टल के माध्यम से 24 घंटे में 4,894 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। अब तक कुल 4,16,512 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल पर चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त किया है।

Continue Reading

Trending