Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

खेल-कूद

आईपीएल 13: दूसरे क्वॉलिफायर में हैदराबाद से भिड़ेगी दिल्ली, जीतने वाली टीम कटाएगी फाइनल का टिकट

Published

on

नई दिल्ली। आईपीएल 13 अपने समापन की ओर है। आईपीएल में अब केवल दो मुकबाले खेले जाने हैं जिनमें आज दिल्ली कैपिटल्स का सामना 2016 की विजेता सनराइजर्स हैदराबाद से होगा। आज जो टीम जीतेगी वो फाइनल में मुंबई इंडियंस से भिड़ेगी। सनराइजर्स हैदराबाद ने पिछले चारों मुकाबलों में जीत दर्ज की है तो वहीं दिल्ली अपने पिछले पांच मुकाबलों में चार हारी है। ऐसे में आज के मैच में हैदराबाद का पलड़ा भारी लग रहा है।

शुरुआती चरण में लचर प्रदर्शन करने वाली हैदराबाद की टीम की वापसी का श्रेय कप्तान डेविड वॉर्नर को जाता है, जिन्होंने अपने खिलाड़ियों का शानदार इस्तेमाल किया। दूसरी तरफ शुरुआती नौ मैचों में सात जीत दर्ज करने वाले दिल्ली कैपिटल्स की पिछले छह मैचों में पांच हार से कप्तान श्रेयस अय्यर की योजनाओं को झटका लगा है। युवा कप्तान अय्यर टूर्नमेंट के 13वें सत्र में टीम को पहली बार फाइनल में ले जाना चाहेंगे तो वहीं वॉर्नर 2016 की सफलता को एक बार फिर से दोहराकर दूसरी बार टीम को चैम्पियन बनाना चहेंगे। वॉर्नर अगर अगले दो मैचों में जीत दर्ज करने में सफल रहे तो टूर्नमेंट में सबसे कम अनुभव वाले खिलाड़ियों के साथ जीत दर्ज करने का सेहरा उनके सिर बंधेगा।

सनराइजर्स हैदराबाद का गेंदबाजी आक्रामण बेहद मजबूत है। उसने मुंबई, बेंगलोर जैसी टीमों को बड़ा स्कोर नहीं करने दिया और पूरी संभावना है कि वह दिल्ली के बल्लेबाजो की भी नाक में दम करेगी। पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत ने दिल्ली की उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया है। शिखर धवन फॉर्म में हैं, लेकिन अकेले लड़ रहे है। क्वालीफायर में तो वह भी शांत बैठ गए थे। कप्तान श्रेयस अय्यर ने शुरूआती मैचों में अच्छी पारियां खेली थीं, लेकिन दूसरे हाफ में उनका बल्ला खामोश है। मार्कस स्टोयनिस ने मुंबई के खिलाफ अर्धशतक जमाया था, लेकिन उनकी यह पारी देर से आई थी। टीम के लिए बेहद जरूरी है कि स्टोयनिस इस प्रदर्शन को हैदराबाद के खिलाफ जारी रखें। टी. नटारजन, संदीप शर्मा, जेसन होल्डर और राशिद खान के आगे यह सभी कितने असरदार होंगे यह बड़ा सवाल है।

गेंदबाजी में कैगिसो रबादा, एनरिक नॉर्खिया हैदराबाद के बल्लेबाजों को परेशानी दे सकते हैं। मध्य के ओवरों में रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल भी यह काम करना बखूबी जानते हैं। लेकिन दिल्ली के लिए एक समस्या पांचवें गेंदबाज की रही है। तुषार देशपांड को दिल्ली ने आजमाया था जो सफल भी रहे थे, लेकिन फिर वह गायब हो गए। डेनियल सैम्स भी इस जगह अपनी छाप नहीं छोड़ पाए हैं।

 

खेल-कूद

केविन पीटरसन ने हिंदी में ट्वीट कर दी टीम इंडिया को बधाई, साथ ही दे दी ये चेतावनी

Published

on

नई दिल्ली| इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने भारतीय टीम को आस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने पर हिंदी में बधाई दी है। बधाई के साथ पीटरसन ने टीम इंडिया को एक चेतावनी भी दी है।

पीटरसन ने लिखा, “भारत, यह ऐतिहासिक जीत का जश्न मनाएं क्योंकि यह सभी बाधाओं के खिलाफ हासिल हुई है, लेकिन असली टीम तो कुछ हफ्तों बाद आ रही है जिसे आपको हराना होगा अपने घर में। सतर्क रहें दो सप्ताह में बहुत अधिक जश्न मनाने से सावधान रहें।”

रोमांच से भरपूर इस मैच में पल-पल जीत का कांटा इधर-उधर फिसलता रहा लेकिन आखिरकार टीम इंडिया की युवा ब्रिगेड ने भारत की झोली में जीत डाल दी। मैच की चौथी पारी में भारत को 328 रन की दरकार थी. शुबमन गिल (91), चेतेश्वर पुजारा (56) और रिषभ पंत (85*) की बेहतरीन पारियों की बदौलत भारत ने यहां इतिहास रच दिया।

इससे पहले इस मैदान पर कभी भी 250 रन का टारगेट चेज नहीं हुआ था लेकिन अपने स्टार खिलाड़ियों के बिना खेल रही टीम इंडिया ने यहां यह भी करके दिखाया। ऋषभ पंत को उनकी बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ़ द मैच का पुरूस्कार मिला, वहीं 4 मैचों में 21 विकेट लेने वाले ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाद पैट कमिंस मैन ऑफ़ द सीरीज घोषित किए गए।

बता दें कि पिछली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसके ही घर में 2018-19 टेस्ट सीरीज में 2-1 से हराया था। भारतीय टीम ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी लगातार तीसरी बार अपने नाम कर जीत की हैट्रिक लगाई है।

Continue Reading

Trending