Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

वेब सीरीज ‘तांडव’ के खिलाफ लखनऊ में एफआईआर दर्ज

Published

on

लखनऊ। बॉलीवुड एक्टर सैफ अली खान स्टारर वेब सीरीज तांडव के खिलाफ देशभर में लोगों का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है। लोगों का आरोप है कि ‘तांडव’ में हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान और जातिगत भावनाओं को भड़काने का काम किया गया है। लोगों का कहना है इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। इसे देखते हुए लखनऊ पुलिस द्वारा हजरतगंज कोतवाली में वेब सीरीज तांडव को बनाने और रिलीज़ कराने वालों के खिलाफ गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज करा दी गई है।

हजरतगंज थाने के वरिष्ठ उपनिरीक्षक अमरनाथ यादव की तहरीर पर तांडव वेब सीरीज को रिलीज कराने वाले OTT प्लेटफॉर्म अमेज़न प्राइम वीडियो की ओरिजनल कंटेंट हेड इंडिया अपर्णा पुरोहित, तांडव वेब सीरीज़ के डायरेक्टर अली अब्बास जफर, प्रोड्यूसर हिमांशु कृष्णा मेहरा और राइटर गौरव सोलंकी के खिलाफ नामजद और एक अन्य अज्ञात समेत 5 लोगों के खिलाफ हजरतगंज थाने में कई गंभीर धाराओं में एफआईआर कराई गई है।

बता दें, तांडव को बीते शुक्रवार को अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज किया गया। वेब सीरीज में सैफ अली खान के अलावा कुमुद मिश्रा, डिंपल कपाड़िया, तिंग्माशु धूलिया, सुनील ग्रोवर, डीनो मोरिया और कृति कामरा अहम भूमिका में हैं।

प्रादेशिक

योगी सरकार का बड़ा फैसला, 10 लाख युवाओं को फ्री में देगी टैबलेट

Published

on

लखनऊ। यूपी की योगी सरकार 10 लाख युवाओं को टैबलेट देने जा रही है। हालांकि इसके लिए उन्हें परीक्षा से गुजरना होगा। निशुल्क कोचिंग के बाद अब टैबलेट से परीक्षा की तैयारी करने में काफी मदद मिलेगी। इससे काम की पाठ्य सामग्री जुटाने में सहूलियत होगी।

टैबलेट मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए चलाई जा रही निश्शुल्क कोचिंग में दाखिला पाने वाले विद्यार्थियों को ही मिलेगा। कोचिंग में दाखिला प्रवेश परीक्षा के माध्यम से दिया जाएगा। टैबलेट पाने के लिए यह एक तरह की स्क्रीनिंग परीक्षा होगी। फिर इस कोचिंग में पढ़ रहे युवाओं में से टैबलेट के लिए पात्र मेधावियों का चयन सरकार द्वारा निर्धारित नियम व शर्तों के आधार पर होगा।

बता दें कि सीएम योगी ने अभ्युदय योजना की शुरुआत करते हुए कहा था कि कोटा में फंसे युवाओं की पीड़ा को देखते हुए हमने सोचा कि अगर प्रदेश में कोचिंग की सुविधा उपलब्ध करवाएं तो उसके बेहतर परिणाम मिलेंगे। बेहतर शिक्षा के लिए अच्छी फैकेल्टी कहीं भी उपलब्ध करवाई जा सकती है।

हमने कुछ अलग करके दिखाया। इस क्षेत्र के विशेषज्ञों के साथ ही जिन्होंने अपनी सफलता का परचम लहराया है उन्हें भी इससे जोड़ा है। अपने सभी आईएएस, आईपीएस, आईएफएस, पीसीएस सहित मेडिकल, आईआईटी के विशेषज्ञों को भी इससे जोड़ा है।

 

Continue Reading

Trending