Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

यूरोपियन यूनियन ने पाकिस्तान एयरलाइंस पर लगाया 6 महीने का बैन

Published

on

नई दिल्ली। अब पाकिस्तान की कोई भी फ्लाइट यूरोप नहीं जा सकेगी। यूरोपियन यूनियन ने पाकिस्तान की सरकारी एयरलाइन कंपनी को 6 माह के लिए बैन कर दिया है। हालांकि यूरोपियन यूनियन के इन फैसले के खिलाफ पीआईए अपील कर सकती है।एयरलाइंस ने कहा कि ईएएसए की चिंताओं को दूर करने की कोशिश की जा रही है। फैसले के खिलाफ अपील करने जैसे कदम भी उठाए जा सकते हैं।

पाकिस्तानी पायलटों के लाइसेंस फर्जी होने की खबरों के आधार पर यूरोपियन यूनियन एयर सेफ्टी एजेंसी ने ये फैसला लिया है।ईयू ने यह पाबंदी पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान के उस बयान के बाद लगाई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि एक तिहाई पीआइए पायलटों के पास फर्जी लाइसेंस हैं। उन्होंने यह भी कहा कि पायलटों की लापरवाही के चलते हाल की कम से कम तीन हवाई दुर्घटनाएं हुई हैं, जिनमें 22 मई को हुआ हादसा भी शामिल है।

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन (पीआईए) ने पिछले हफ्ते ‘संदिग्ध लाइसेंस’ वाले 150 पायलटों को काम पर आने से मना कर दिया था। पाकिस्तान के विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान ने भी संसद में 40 फीसदी पायलटों के लाइसेंस फर्जी होने की बात कही है। विमानन मंत्री ने कहा कि प्राइवेट एयरलाइन कंपनियों को हिदायत दी गई है कि वो फर्जी लाइसेंस वाले पायलटों को प्लेन उड़ाने की परमीशन न दें।

अन्तर्राष्ट्रीय

अमेरिका में कोरोना का कहर घटा, वैक्सीन की वजह से कम हो रही मौतें

Published

on

नई दिल्ली। अमेरिका में लंबे समय तक कहर बरपाने के बाद कोरोना संक्रमण बहुत कम हो गया है। बीते 24 घंटे में यहां कोरोना के लगभग 10 हजार नए मामले सामने आए। इस दौरान 205 लोगों की मौत हो गई।

ताजा आंकड़ो के मुताबिक अमेरिका में कोरोना वायरस से 6 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, 113 दिन में 1 लाख मौतें हुईं हैं। हालांकि अब वैक्सीनेशन की वजह से मौतों का आंकड़ा बढ़ने की रफ्तार धीमी पड़ी है।

मौतों का आंकड़ा 5 लाख से 6 लाख तक पहुंचने में 113 दिन का वक्त लगा है। इससे पहले 4 लाख से 5 लाख मौतें होने में 35 दिन ही लगे थे। मौतों की रफ्तार में कमी की वजह वैक्सीनेशन को माना जा रहा है।

रॉयटर्स के डेटा के मुताबिक, अमेरिका में मई में 18,587 मौतें दर्ज हुईं जो जनवरी की तुलना में 81% कम है। जनवरी में वहां पीक आया था। अमेरिका में अब कोरोना की रफ्तार भले ही धीमी पड़ गई हो, लेकिन अब तक सबसे ज्यादा मौतें यहीं हुई हैं।

Continue Reading

Trending