Connect with us

आध्यात्म

धनतेरस पर गलती से भी ना खरीदें ये चीजें, वर्ना मां लक्ष्मी हो जाएंगी नाराज

Published

on

नई दिल्ली। इस साल 14 नवंबर को पूरे भारत दिवाली का त्यौहार मनाया जाएगा। दिवाली को देखते हुए बाज़ार गुलजार हैं। लोगों की भीड़ दुकानों पर खरीदारी करने के उमड़ी हुई है। दिवाली के आसपास कई और त्योहार भी मनाए जाते हैं जिनमें धनतेरस, गोवर्धन पूजा और भाई दूज का त्योहार भी शामिल हैं। धनतेरस का त्योहार दिवाली से दो दिन पहले सेलिब्रेट किया जाता है। इस साल यह 12  नवंबर को मनाया जा रहा है। हिंदू धर्म में धनतेरस का विशेष महत्व है। धनतेरस पर धनवंतरी के साथ-साथ माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की भी पूजा की जाती है। धनतेरस को खरीददारी के लिए भी काफी शुभ दिन माना गया है। लेकिन कुछ ऐसी चीजें हैं तो धन तेरस के दिन नहीं खरीदनी होती हैं। अगर ऐसा किया तो मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं।

धनतेरस पर न खरीदें ये चीजें:

लोहा

मान्यता के मुताबिक, धनतेरस के दिन लोहे की बनी हुईं चीजें घर में नहीं लानी चाहिए। अगर आपको लोहे के बर्तन खरीदने हैं तो धनतेरस से एक दिन पहले ही बर्तन खरीद लें।

खाली बर्तन

वैसे ये तो सच्चाई है कि दुकान से आपको कोई अनाज भरकर आपको बर्तन नहीं बेचने जा रहा है इसलिए कोशिश करें कि घर में बर्तन लाने से पहले इसे पानी या किसी दूसरी चीज से भर लें।

स्टील

धनतेरस पर बर्तन खरीदने की परंपरा काफी समय से चली आ रही है। स्टील भी लोहा का ही दूसरा रूप है इसलिए कहा जाता है कि स्टील के बर्तन भी धनतेरस के दिन नहीं खरीदने चाहिए। स्टील के बजाए कॉपर या ब्रॉन्ज के बर्तन खरीदे जाने चाहिए।

काले रंग की वस्तुएं

धनतेरस के दिन काले रंग की चीजों को घर लाने से बचना चाहिए। धनतेरस एक बहुत ही शुभ दिन है जबकि काला रंग हमेशा से दुर्भाग्य का प्रतीक माना गया है इसलिए धनतेरस पर काले रंग की चीजें खरीदने से बचें।

धारदार हथियार

धनतेरस के दिन अघर आप खरीदारी करने निकले हैं तो चाकू, कैंची व दूसरे धारदार हथियारों को खरीदने से बचना चाहिए।

कारें

कई घरों में धनतेरस के दिन कार खरीदने की योजना बनाई जाती है क्योंकि यह शुभ दिन माना जाता है लेकिन मान्यताओं के मुताबिक, अगर आपको धनतेरस के दिन कार घर लानी है तो उसका भुगतान एक दिन पहले कर लें, धनतेरस के दिन नहीं।

नकली सोना

धनतेरस के दिन सबसे ज्यादा सोने की ही खरीदारी होती है लेकिन एक बात ध्यान में रखना जरूरी है कि इस दिन गलती से भी नकली ज्वैलरी, सिक्के घर में नहीं लाने चाहिए।

तेल

धनतेरस के दिन तेल या तेल के उत्पादों जैसे घी, रिफाइंड इत्यादि लाने के लिए मना किया जाता है। धनतेरस पर दीये जलाने के लिए भी तेल और घी की जरूरत पड़ती है इसलिए ये चीजें पहले से ही खरीद कर रख लें।

शीशे की बनी चीजें

कांच का संबंध राहु से माना जाता है इसलिए धनतेरस के दिन इसे खरीदने से बचना चाहिए। इस दिन कांच की चीजों का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए।

उपहार

धनतेरस के एक दिन पहले तोहफे खरीदना और देना शुभ माना जाता है लेकिन धनतेरस के दिन नहीं. इसके पीछे तर्क ये दिया जाता है कि किसी को तोहफा देने का मतलब है कि आप अपने घर से रुपए खर्च कर रहे हैं यानी धनतेरस के दिन अपने घर से लक्ष्मी को दूसरी जगह भेजना अशुभ माना जाता है।

आध्यात्म

Uttarakhand : 30 नम्बर को होने वाला कार्तिक पूर्णिमा स्नान आयोजन रद्द

Published

on

By

आज से दो दिन के लिए राज्य सीमाएं सील की गई हैं। 30 नम्बर को होने वाले कार्तिक पूर्णिमा का स्नान  भी रद्द किया है, कोरोना को देखते हुए ये फैसला लिया गया है।

सुकमा : आईईडी विस्फोट में एक जवान शहीद

कर्मकांड के लिए आने वाले लोग, रोगी वाहन और सरकारी बसों को रहेगी छूट। हरकी पैड़ी समेत आसपास के गंगा घाटों पर स्नान पर दो दिन रहेगा प्रतिबंध।

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून जाने वालों को सीमा से डायवर्ट करके भेजा जा रहा है।इस काम के लिए उत्तराखंड पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है।

Continue Reading

Trending