Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

नेशनल

अभी-अभी: यहां ईद की नमाज़ के बाद सेना पर किया पथराव, ISIS और पाकिस्तान के झंडे लहराए

Published

on

श्रीनगर। एक तरफ जहां पूरा देश ईद पर शान्ति और भाईचारे का पैगाम देते नहीं थक रहा है, वहीँ देश का एक टुकड़ा अपने उसी रंग में नज़र आ रहा है, जिसमें वो अक्सर दिखाई पड़ता है। हम बात कश्मीर की कर रहें हैं। जहां ईद की नमाज़ अदा होने के बाद अराजक भीड़ ने सुरक्षाबलों पर पत्थर फेंके। इन उपद्रवियों ने आईएसआईएस और पाकिस्तान के झंडे भी लहराए।

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में नमाज के बाद उग्र भीड़ द्वारा सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी की गई। उपद्रवियों ने सुरक्षा बलों पर पत्थर फेंके और आईएसआईएस व पाकिस्तान के झंडे लहराए। बेकाबू भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा बलों को आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े। दूसरी ओर नियंत्रण रेखा के पास जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में पाक ने एक बार फिर सीजफायर तोड़ा। पाक फायरिंग में भारतीय सेना के जवान बिकास गुरुंग शहीद हो गए।

अरनिया सेक्टर में भी शनिवार सुबह चार बजे के करीब ईद के मौके पर पाकिस्तान की ओर से फायरिंग की गई। बीएसएफ ने भी पाक सेना की फायरिंग का मुंह तोड़ जवाब दिया।

नेशनल

आईएमए के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ केके अग्रवाल का कोरोना से निधन

Published

on

नई दिल्ली। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ केके अग्रवाल का सोमवार को कोरोना वायरस की वजह से निधन हो गया। दिल्ली के एम्स में उन्होंने अंतिम सांस ली।

62 वर्षीय केके अग्रवाल पिछले कई दिनों से एम्स में भर्ती थे। उन्हें एक सप्ताह से वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। 2010 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा दिल्ली में की और नागपुर विश्वविद्यालय से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी की थी।

पिछले एक साल से, वह कोविड महामारी पर वीडियो पोस्ट कर रहे थे और बीमारी के विभिन्न पहलुओं और इसके प्रबंधन के बारे में बात कर रहे थे। उनके ट्विटर प्रोफाइल पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा गया, “महामारी के दौरान भी, उन्होंने जनता को शिक्षित करने के लिए निरंतर प्रयास किए। इस दौरान उन्होंने कई वीडियो और शैक्षिक कार्यक्रमों के माध्यम से 10 करोड़ लोगों तक पहुंचने में सक्षम थे और अनगिनत लोगों की जान बचाई। वह चाहते थे कि उनके जीवन का जश्न मनाया जाए और शोक न किया जाए।”

Continue Reading

Trending