Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

नेशनल

बन गई कोरोना वायरस पर असर दिखाने वाली सबसे सस्ती दवा

Published

on

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना के मामले रिकार्डतोड़ गति से आगे बढ़ रहे हैं। अब तक देश में 12 लाख से ज्यादा कोरोना के मामले आ चुके हैं जबकि 30 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि इन सबके बीच एक अच्छी खबर आई है।

कोरोना वायरस पर असर दिखाने वाली सबसे सस्ती दवा बनाई जा चुकी है। साथ ही बड़ी बात ये है कि इस दवा को बाजार में लाने की अनुमति भी एक दवा कंपनी को दे दी गई है। इस दवा को बाजार में आने से पहले ड्रग्स कंट्रोलर ऑफ इंडिया से अनुमति मिली है। इस दवा की एक टैबलेट मात्र 59 रुपए में मिलेगी। इस दवा का नाम है फैवीटॉन है।

फैवीटॉन को एक तरह की एंटीवायरल ड्रग है जो कोरोना वायरस से लड़ने में कोरोना मरीजों की मदद करेगी। इस दवा को फैवीपिरावीर के नाम से भी बाजार में बेचा जाता है।

#corona #coronavirus #medicine #coronamedicine

नेशनल

सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन आवंटन के लिए बनाई टास्क फोर्स, कई टॉप डॉक्टर्स शामिल

Published

on

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन आवंटन के लिए शनिवार को नेशनल टास्क फोर्स (एनटीएफ) बनाने का फैसला किया है। इस टास्क फोर्स में 12 सदस्य रहेंगें। उच्चतम न्यायालय की ओर से इसमें देश के कई प्रमुख अस्पतालों के डॉक्टरों को शामिल किया गया है।

इसमें शामिल 12 सदस्यों के नाम- वेस्ट बंगाल यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेस के पूर्व वाइस चांसलर डॉ. भाभातोश बिस्वास, दिल्ली स्थित सर गंगाराम अस्पताल के चेयरपर्सन डॉ. देवेंद्र सिंह राणा, नारायणा हेल्थ केयर के चेयरपर्सन डॉ. देवीशेट्टी, क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज (वेल्लोर) के प्रोफेसर डॉ. गगनदीप कांग, डॉ. जेवी पीटर, मेदांता अस्पताल के चेयरपर्सन डॉ. नरेश त्रेहन, फोर्टिस अस्पताल के डॉ. राहुल पंडित, सर गंगाराम अस्पताल के डॉ. सौमित्र रावत, इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बायलरी साइंस (दिल्ली) के डॉ. शिव कुमार, मुंबई स्थित ब्रीच कैंडी अस्पताल के डॉ. जरीर एफ., केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव और नेशनल टास्क फोर्स के संयोजक जोकि सरकार में कैबिनेट सचिव स्तर का अधिकारी होगा- हैं।

Continue Reading

Trending