Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

नेशनल

अहमद पटेल के निधन पर बोलीं सोनिया, कहा- मैंने एक वफादार सहकर्मी और एक दोस्त खो दिया

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का बुधवार को तड़के निधन हो गया। वह 71 साल के थे। करीब एक महीने पहले उनके कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद से उनकी तबीयत बहुत खराब थी। उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। जिसके बाद मंगलवार को उन्होंने अंतिम सांस ली।

उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित विभिन्न नेताओं ने पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि ”अहमद पटेल जी का निधन दुखद है। उन्होंने कई साल सार्वजनिक जीवन में बिताए और समाज की सेवा की। उनके तेज दिमाग और कांग्रेस को मजबूत करने में उनकी भूमिका के लिए उन्हें सदा याद किया जाएगा। उनके बेटे फैसल से बात की और संवेदना व्यक्त की। अहमद भाई की आत्मा को शांति मिले।

वहीँ, सोनिया गांधी ने अहमद पटेल के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने कांग्रेस के एक समर्पित सहकर्मी को खो दिया है। उन्होंने कहा, श्री अहमद पटेल के साथ मैंने एक ऐसे सहकर्मी को खो दिया, जिनका पूरा जीवन कांग्रेस पार्टी को समर्पित था। उन्होंने आगे कहा, उनकी ईमानदारी और समर्पण, अपने कर्तव्य के प्रति उनकी प्रतिबद्धता, उनकी हमेशा मदद करने की तत्परता, उनकी उदारता, ऐसे दुर्लभ गुण थे जो उन्हें दूसरों से अलग करते थे।

उन्होंने आगे कहा, मैंने एक कॉमरेड, एक वफादार सहकर्मी और एक दोस्त खो दिया है, जिनकी जगह कोई नहीं ले सकता। मैं उनके निधन पर शोक जताती हूं और उनके शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करती हूं, उनके प्रति मैं सहानुभूति और समर्थन की भावना रखती हूं।

 

नेशनल

भारत बायोटेक ने जारी किया बयान- ऐसे लोग भूल से भी न लगवाएं वैक्सीन

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना से निपटने के लिए भारत में वैक्सीनेशन की शुरुआत हो चुकी है। इसी बीच भारत बायोटेक ने फैक्टशीट जारी करके बताया है कि किस बीमारी या अवस्था में लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए।

सोमवार को कंपनी की वेबसाइट पर अपलोडेड फैक्टशीट के माध्यम से भारत बायोटेक ने ऐसे लोगों को कोवैक्सीन का टीका नहीं लगवाने की सलाह दी है, जिन्हें कुछ समय से एलर्जी, बुखार, ब्लीडिंग डिसऑर्डर की शिकायत रही हो। साथ ही जिनकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है या दवाई ले रहे हैं या फिर जिसका प्रतिरक्षा प्रणाली पर असर हो सकता है। कंपनी की वेबसाइट पर अपलोड किए गए एक बयान में कहा गया है कि कोवैक्सीन का टीका गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी वर्जित है। साथ ही जिन्होंने दूसरी वैक्सीन ली है, या फिर किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं, वे भी कोवैक्सीन का टीका न लें।

यहां यह जानना जरूरी है कि सरकार ने भी एक दिशा-निर्देश जारी कर बीते दिनों स्पष्ट कर दिया था कि गर्भवती महिला और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को वैक्सीन लेने की अभी जरूरत नहीं है। भारत बायोटेक ने वैक्सीन की संभावित प्रतिकूल घटनाओं और वैक्सीन के लिए योग्य लोगों का विवरण देते हुए यह फैक्टशीट जारी किया है। इसमें कहा गया है कि इसका बहुत ही कम चांस है कि कोवैक्सीन से सांस लेने में कठिनाई, चेहरे/गले की सूजन/ तेजी से दिल धड़कना, पूरे शरीर में चकत्ते और कमजोरी सहित एलर्जी की गंभीर प्रतिक्रिया पैदा हो सकती हैं।

 

Continue Reading

Trending