Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

कृषि कानूनों पर विधानसभा में सीएम योगी ने कही ये बात

Published

on

लखनऊउत्तर प्रदेश विधानसभा सत्र के दौरान शुक्रवार को सीएम योगी ने कहा कि कृषि कानूनों से किसानों को कोई दिक्कत नहीं है। किसान संगठन तो कई बार समर्थन कर चुके हैं। दिक्कत बिचौलियों को है, क्योंकि अब पैसा सीधे किसानों के खाते में जा रहा है।

बीते दिन सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सपा सदस्य और नेता विपक्ष राम गोविंद चौधरी, शैलेंद्र यादव ललई, नरेंद्र वर्मा और वीरेंद्र यादव ने विधानसभा अध्‍यक्ष को नोटिस देकर सदन की कार्यवाही स्‍थगित कर कृषि कानूनों की वापसी के लिए आंदोलनरत किसानों के उत्‍पीड़न पर चर्चा कराने की मांग की। लेकिन जब उनकी मांग नहीं मानी गई तो सपा के सदस्य वॉकआउट कर गए। कांग्रेस के सदस्य भी किसानों के मुद्दे पर सदन से वॉकआउट कर गए।

सीएम ने कहा कि मुझे आश्चर्य होता है कि समाजवादी पार्टी किस मुंह से किसानों, युवाओं और महिलाओं के बारे में बोलती है। ये लोग तो कभी भी इनकी बात सदन में नहीं करते हैं। किसी भी लोकतंत्र की शक्ति संवाद है। संवाद में सहमति और असहमति भी होगी, लेकिन सहमति तथा असहमति के मध्य समन्वय स्थापित करना ही तो लोकतंत्र का काम है।

जब देश गणतंत्र दिवस मना रहा था, उस दिन लाल किले पर तिरंगे का अपमान हुआ। देश के संवैधानिक प्रतीकों का असम्मान हुआ। क्या यह किसान आंदोलन की आड़ में देश की छवि को खराब करने की साजिश नहीं है? इसी कारण कोई भी स्वाभिमानी समाज इसको स्वीकार नहीं कर सकता है। सीएम योगी ने कहा कि अन्‍नदाता किसान को धोखा देकर दलाली करने वाले लोग आज जरूर इस बात को लेकर चिंतित हैं कि पैसा सीधे उनके (किसानों) खातों में क्‍यों जा रहा है। पर्ची भी किसानों के स्‍मार्ट फोन पर प्राप्‍त हो रही है।

प्रादेशिक

कोरोना से हुई मौत पर केजरीवाल सरकार परिवार को देगी 50000 मुआवजा

Published

on

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की रफ्तार अब थोड़ी कम होती दिख रही है। राष्ट्रीय राजधानी में लंबे समय से कहर बरपा रहे इस वायरस की स्पीड पर ब्रेक लगता नजर आ रहा है।

ठीक होते हालात के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री पर मंगलवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि इस संकट के वक्त में दिल्ली सरकार चार बड़े कदम उठाने जा रही है।

1-सीएम ने कहा कि जिनके पास राशन कार्ड है, पहले उनसे थोड़े पैसे लिए जाते थे, लेकिन अब उनसे पैसा नहीं लिया जाएगा। हर कार्डधारी को 10 किलो मुफ्त राशन मिलेगा। इसके अलावा जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, अगर वो बताएंगे कि उन्हें राशन की जरूरत है तो उन्हें भी राशन मुफ्त दिया जाएगा।

2- सीएम ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जारी इस जंग में कुछ परिवार बेहद मुश्किल हालातों का सामना कर रहे हैं। प्रत्येक परिवार को जिसमें किसी की मौत कोरोना के कारण हुई है, अनुग्रह राशि के रूप में 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

3- जिस परिवार में कमाने वाले व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई उस परिवार को ₹50000 मुआवजे के साथ-साथ 2500 रुपये महीना पेंशन दी जाएगी।

4- ऐसे बच्चे जिनके दोनों मां बाप की मौत हो गई है उनके बच्चों को 25 साल उम्र तक हर महीने 2500 रुपये मिलेंगे। इसके अलावा शिक्षा का सारा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी।

Continue Reading

Trending