Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

उत्तर प्रदेश सरकार खत्म करेगी बरसों पुराने कानून

Published

on

उत्तर प्रदेश सरकार ने बरसों पुराने व अनुपयोगी कानूनों को खत्म करने का फैसला लिया है। इसमें 100 साल पुराने नियम कानून भी हैं। इससे कारोबार करने वाले अपने उद्यमी अपना उद्योग जल्द शुरू कर पाएंगे।

कंगना को लेकर सीएम उद्धव टिप्पणी करने से किया इनकार

सरकार के इस फैसले से आम जनता को भी नियम-कानून कम होने से राहत मिलेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह काम करने का जिम्मा औद्योगिक विकास विभाग को दिया है।

मोदी सरकार के निर्देश पर अनुपयोगी अधिनियम, नियम कानून की समीक्षा कर उनको समाप्त करने की कार्रवाई करते हुए योगी सरकार ने ये फैसला लिया है। नीति आयोग ने भी इस संबंध में गाइडलाइंस जारी की हैं।

प्रादेशिक

बढ़ती ठंड को देखते हुए सीएम योगी का निर्देश- जरुरतमंद को बांटे जाएं कंबल, कोई खुले में में न सोए

Published

on

लखनऊ। यूपी में पिछले कुछ दिन पहले निकली धूप ने जहां लोगों को गर्मी का एहसास कराया था तो वहीं पिछले 2-3 दिनों से यूपी में कड़ाके की ठंड ने एक बार फिर दस्तक दे दी है। ऐसे में सीएम योगी ने गरीबों व निराश्रितों को को ठंड से बचाने के लिए अधिकारियों को अहम निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि भीषण ठंड को ध्यान में रखते हुए रैन बसेरों के बेहतर संचालन और अलाव की प्रभावी व्यवस्था की जाए। यह भी कहा है कि यह भी ध्यान रखा जाए कि कोई भी व्यक्ति खुले में न सोए। उन्होंने कहा है कि शहरी व ग्रामीण इलाकों में सभी प्रमुख सार्वजनिक स्थलों पर अलाव जलाने की व्यवस्था की जाए। जरूरतमंदों को कंबल भी बांटे जाएं।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि गरीबों और निराश्रितों को शीतलहर में राहत प्रदान करने के लिए रैन बसेरों की व्यवस्था की है। रैन बसेरों में सुरक्षा और स्वच्छता की समुचित व्यवस्था की जाए। रैन बसेरों के संचालन में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन किया जाए। जिला प्रशासन के अधिकारियों को अलाव, रैन बसेरा संचालन और कंबल वितरण कार्य की नियमित समीक्षा की जाए।

Continue Reading

Trending