Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

मच्छर जनित बीमारियों पर बोले सीएम योगी- मानसून आने को है, सभी अधिकारी रहें अलर्ट

Published

on

लखनऊ। मानसून आने को है, ऐसे में मौसमी और मच्छर जनित बीमारियों को लेकर मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को एलर्ट मोड में रहने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारियों की रोकथाम के पुख्ता इंतजाम किये जाएं। सभी अस्पतालों में इन्सेफलाइटिस, डेंगू, मलेरिया जैसी अन्य मच्छर जनित बीमारियों की जांच की व्यवस्था की जाए। जिससे संचारी रोगों का पूर्ण रूप खात्मा यूपी में किया जा सके। उन्होंने सभी अस्पतालों में इलाज के मुकम्मल इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में कोरोना की रोकथाम के लिये भी इन्सेफलाइटिस मॉडल के आधार पर काम करने के निर्देश अधिकारियों को दिये थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संचारी रोगों की रोकथाम के लिये विशेष रूप से सर्विलांस व्यवस्थाओं को और बेहतर करने, स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ ग्राम्य विकास विभाग और बाल विकास पुष्टाहार आदि विभागों से एक्टिव रहने को कहा है। उन्होंने कहा है कि बरसात का मौसम शुरू हो रहा है। इस समय इन्सेफलाइटिस जैसी जल जनित बीमारियों के प्रसार का खतरा है। ऐसे में हमको बिना देरी किए बीमारी से बचाव और रोकथाम के काम तेज करने होंगे। इन्सेफलाइटिस उन्मूलन के लिये सीएम योगी ने स्वास्थ्य, शिक्षा, ग्रामीण विकास, पंचायती राज, महिला एवं बाल कल्याण आदि विभागों को जोड़ने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने आशा बहुओं, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, एएनएम, ग्राम प्रधानों से कहा है कि वे लोगों को इन्सेफलाइटिस से बचाने के प्रति जागरूक करने की जिम्मेदारी तय करें।

इन्सेफलाइटिस की रोकथाम के इसी मॉडल को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना महामारी को जड़ से खत्म करने के लिये प्रयोग किया और उसके सफल परिणाम सामने आए। देश के अन्य राज्यों के मुकाबले सबसे कम समय में उत्तर प्रदेश कोरोना जैसी वैश्विक महामारी को मात देने में सफल साबित हुआ।

प्रादेशिक

यूपी में बीते 24 घंटे में आए 255 नए केस

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज लोक भवन, लखनऊ में कोविड-19 के संबंध में गठित समितियों के अध्यक्षों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री  ने प्रदेश में बाहर से आने वाले लोगों का एंटीजन टेस्ट कराने हेतु विशेष प्रबंध करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए।

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में कोरोना से स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 16,78,486 हो गई है। प्रदेश में कोविड रिकवरी दर 98.5 फीसदी है, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.1% है। प्रदेश में अब तक 5.57 करोड़ से अधिक टेस्ट संपन्न हो चुके हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 4,000 से कम हो गई है। वर्तमान में 3,910 कोरोना मरीज उपचाराधीन हैं। विगत दिवस 16 जिलों में संक्रमण के नए मामले नहीं मिले, जबकि 55 जिलों में नए केस इकाई में आए हैं।

मुख्यमंत्री योगी को अवगत कराया गया कि विगत 24 घंटे में प्रदेश में 2,44,275 कोविड टेस्ट किए गए हैं। इसी अवधि में संक्रमण के 255 नए मामले आए हैं, जबकि 397 मरीज उपचारित होकर स्वस्थ हुए हैं। 2,525 लोग होम आइसोलेशन में हैं। सीएम योगी ने कहा कि 21 जून को निर्धारित 06 लाख वैक्सीनेशन के सापेक्ष 07,29,197 लोगों को टीका-कवर प्रदान किया गया। अब तक 2.63 करोड़ से अधिक वैक्सीन की डोज दी जा चुकी हैं।

01 जुलाई से प्रतिदिन 10-12 लाख वैक्सीनेशन के लक्ष्य के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएं। उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशनों, बस स्टेशनों, हवाई अड्डों पर प्रदेश में बाहर से आने वाले लोगों के एंटीजन टेस्ट हेतु विशेष प्रबंध किए जाएं। आवश्यकतानुसार RT-PCR टेस्ट भी कराया जाए। पॉजिटिव पाए जा रहे लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग भी कराई जाए।

 

Continue Reading

Trending