Connect with us

प्रादेशिक

बीएचयू प्रोफेसर फिरोज खान के पिता के बारे में सामने आई ये चौंका देने वाली बात

Published

on

वाराणसी। बनारस हिंदू विश्वविद्यायल (बीएचयू) में एक मुस्लिम प्रोफेसर फिरोज खान की नियुक्ति को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन के बीच उनके पिता रमजान खान ने बताया कि वह और उनके पूर्वज बीते 100 सालों से राम और कृष्ण के भजन गाते आ रहे हैं। रमजान ने कहा, “जो लोग मेरे बेटे द्वारा विश्वविद्यालय में संस्कृत पढ़ाने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, वे जब हमारे परिवार का इतिहास जानेंगे तब शायद उन्हें संतुष्टि होगी।”

संत समाज द्वारा बुधवार को उनके घर जाकर अपना समर्थन देने के दौरान रमजान ने कहा, “मेरे चार बेटे संस्कृत विश्वविद्यालय में पढ़े हैं और मेरी सबसे छोटी बेटी का जन्म दिवाली के दिन हुआ था, जिसके कारण हमने उसका नाम लक्ष्मी रखा है।”

रमजान ने कहा कि प्रोफेसर “फिरोज के दादा एक भजन गायक थे, जो बगरू के एक मंदिर में राधा-कृष्ण और सीताराम के भजन गाने को लेकर लोकप्रिय थे। अब उनका पोता फिरोज भी उनके आदर्शो पर ही चलता है।”

यहां तक कि रमजान और उनका परिवार दो दशक से रामदेव गौशाला में काम भी करता आ रहा है। गौ सेवा के साथ ही वे भजन भी गाते हैं।

इस बीच उनसे मिलने आए संतों का कहना है कि रमजान और उनका परिवार सच्चे हिदू का प्रतीक हैं। महंत सौरभ राघवेंद्राचार्य ने कहा कि हम सभी के लिए यह गर्व की बात है कि फिरोज संस्कृत के विद्वान हैं। उनके खिलाफ विरोध कर रहे लोगों के पास या तो फर्जी डिग्री है या वे खुद फर्जी हैं।

 

प्रादेशिक

गोरखपुर में सीएम योगी : कोविड-19 को लेकर कही ये बात

Published

on

By

गोरखपुर में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद संस्थापक सप्ताह समारोह के उद्घाटन के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई व्यक्ति अचानक बड़ा नहीं होता इसके लिए प्रयास करना ज़रूरी है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज़ आज से शुरू

सीएम ने कहा कि मैं रात में जनरल बिपिन रावत से चर्चा कर रहा था। मैंने कहा कि एक बात बताएं देश की सीमाओं की रक्षा करता हुआ हमारा एक सैनिक जब उन दुरूह क्षेत्रों में देश की रक्षा कैसे कर पाता है। ऐसी जगहों पर एक से दो दिन, चार दिन व्यक्ति गया और मौज-मस्ती कर वापस आ गया। लेकिन जवान दुरूह पस्थितियों में निरंतर दिन-रात देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए कैसे संभव हो पाता है।

इस पर जनरल बिपिन ने उत्‍तर दिया कि यह आसान कार्य है। सैनिकों को उन पहाड़ों पर नई ऊर्जा मिलती है।सीएम ने कहा कि हमको इस बात का ध्यान रखना होगा कि कोविड-19 हमारे सामने चुनौती जरूर प्रस्तुत किया। लेकिन आपदा में हमने नई कार्यपद्धि‍त को विकसित किया। इससे जीवन आसान हो गया।

Continue Reading

Trending