Connect with us

प्रादेशिक

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह भेजा गया जेल, लखनऊ से पुलिस ने किया था गिरफ्तार

Published

on

बलिया | उत्तर प्रदेश के बलिया में हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले धीरेन्द्र प्रताप सिंह को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। पुलिस ने उसे लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क से गिरफ्तार किया था। वह लखनऊ में सरेंडर करने के फिराक में था। बाकायदा वो एक वकील के साथ संपर्क में भी था लेकिन इसके पहले ही उसे दबोच लिया गया। धीरेंद्र, बलिया से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी है। अब तक धीरेंद्र के दो भाई देवेंद्र और नरेंद्र के साथ 10 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

गिरफ्तारी के बाद पुलिस रविवार की शाम बलिया में सदर कोतवाली लेकर पहुंची थी। इसके बाद उसे रात भर हवालात में रखा गया। सोमवार को कोर्ट में पेशी के मद्देनजर 11 इंस्पेक्टर, 60 दीवान, 200 सिपाही व 40 महिला सिपाही को सुरक्षा व्यवस्था में लगाया गया। इस दौरान कोतवाली से लेकर कोर्ट तक सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये थे। ज्ञात हो कि बलिया में रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही थी। उसने वीडियो वायरल कर अपना पक्ष रखा था, लेकिन उसे पकड़ा नहीं जा सका। आईजी एसटीएफ अमिताभ यश ने बताया कि धीरेंद्र प्रताप के लखनऊ में छिपे होने की सूचना मिली थी।

इसके बाद एसटीएफ की टीम को सक्रिय किया गया था। फिलहाल, एसटीएफ धीरेंद्र को गिरफ्तारी के बाद लखनऊ से बलिया ले गयी थी। इससे पहले शुक्रवार को पुलिस ने मुख्य आरोपी के भाई नरेंद्र प्रताप सिंह और देवेंद्र प्रताप सिंह को गिरफ्तार किया था। शनिवार को बलिया के हनुमानगंज निवासी मुन्ना यादव, राजप्रताप यादव एवं दुर्जनपुर निवासी राजन तिवारी को विवेचना में शामिल करने के बाद गिरफ्तार किया गया था।

प्रादेशिक

गोरखपुर में सीएम योगी : कोविड-19 को लेकर कही ये बात

Published

on

By

गोरखपुर में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद संस्थापक सप्ताह समारोह के उद्घाटन के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई व्यक्ति अचानक बड़ा नहीं होता इसके लिए प्रयास करना ज़रूरी है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज़ आज से शुरू

सीएम ने कहा कि मैं रात में जनरल बिपिन रावत से चर्चा कर रहा था। मैंने कहा कि एक बात बताएं देश की सीमाओं की रक्षा करता हुआ हमारा एक सैनिक जब उन दुरूह क्षेत्रों में देश की रक्षा कैसे कर पाता है। ऐसी जगहों पर एक से दो दिन, चार दिन व्यक्ति गया और मौज-मस्ती कर वापस आ गया। लेकिन जवान दुरूह पस्थितियों में निरंतर दिन-रात देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए कैसे संभव हो पाता है।

इस पर जनरल बिपिन ने उत्‍तर दिया कि यह आसान कार्य है। सैनिकों को उन पहाड़ों पर नई ऊर्जा मिलती है।सीएम ने कहा कि हमको इस बात का ध्यान रखना होगा कि कोविड-19 हमारे सामने चुनौती जरूर प्रस्तुत किया। लेकिन आपदा में हमने नई कार्यपद्धि‍त को विकसित किया। इससे जीवन आसान हो गया।

Continue Reading

Trending