Connect with us

मुख्य समाचार

हैदराबाद विश्वविद्यालय में कक्षाएं शुरू

Published

on

हैदराबाद| दलित शोध छात्र रोहित वेमुला की खुदकुशी के बाद दो हफ्ते तक जोरदार विरोध प्रदर्शन का सामना करने के बाद हैदराबाद विश्वविद्यालय में सोमवार से कक्षाएं शुरू हो गईं। विश्वविद्यालय परिसर में हालात उस वक्त सामान्य हो गए, जब छात्रों ने प्रशासनिक विभाग की घेराबंदी हटा ली और प्रशासन को कक्षाएं शुरू करने की अनुमति दे दी।

कई छात्र संगठनों की सामाजिक न्याय के लिए संयुक्त कार्य समिति (जेएसी) ने कहा है कि मांगों के समर्थन में शांतिपूर्ण आंदोलन जारी रखा जाएगा। क्रमिक अनशन जारी रहेगा। जेएसी की मांगों में कुलपति अप्पा राव को बर्खास्त करना भी शामिल है।

जेएसी ने रविवार को अपना मांग पत्र अंतरिम कुलपति पेरियासामी को सौंपा। समिति ने प्रशासन को मांगें पूरी करने के लिए 10 दिन का समय दिया है।

जेएसी की यह भी मांग है कि चार दिन की छुट्टी पर गए विपिन श्रीवास्तव को वापस लौटने पर उन्हें अंतरिम कुलपति का कार्यभार न सौंपा जाए।

विपिन शुक्रवार से छुट्टी पर हैं। जेएसी को वह इसलिए मंजूर नहीं हैं, क्योंकि रोहित समेत पांच दलित छात्रों को निलंबित करने वाली समिति के अध्यक्ष वही थे। 24 जनवरी को अप्पाराव के लंबी छुट्टी पर जाने के बाद विपिन को अंतरिम कुलपति बनाया गया था।

पेरियासामी ने रविवार को आंदोलनकारी छात्रों से बात की। उन्होंने कहा कि छात्रों की मांगें विश्वविद्यालय के दायरे में नहीं आतीं। उन्होंने छात्रों से कहा कि वे अपनी मांगें मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सामने रखें। मंत्रालय के अधिकारी जल्द ही विश्वविद्यालय आने वाले हैं।

जेएसी की योजना चार फरवरी को दिल्ली में मार्च निकालने की भी है। जेएसी की मांगों में केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय और स्मृति ईरानी को पद से हटाना भी शामिल है। समिति इन दोनों को भी रोहित की खुदकुशी के लिए जिम्मेदार मानती है।

इन पांच दलित छात्रों को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के एक नेता के साथ संघर्ष के बाद निलंबित कर दिया गया था।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने खुदकुशी के इस मामले की जांच के लिए न्यायिक आयोग का गठन किया है। चार दलित छात्रों का निलंबन रद्द कर दिया गया है। रोहित के घरवालों को आठ लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया गया है।

खेल-कूद

IND VS NZ: रोहित ने सुपर ओवर की आखिरी 2 गेंदों पर छक्के जड़कर जिताया मैच, भारत का सीरीज पर कब्ज़ा

Published

on

हेमिल्टन। कप्तान केन विलियम्सन (95) के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी के बावजूद यहां सेडन पार्क मैदान न्यूजीलैंड और भारत के बीच खेला गया तीसरा टी-20 मैच टाई हो गया और सुपर ओवर में चला गया, जहां भारत ने रोमांचक जीत दर्ज की।

सुपर ओवर में न्यूजीलैंड की तरफ से केन विलियमसन और मार्टिन गप्टिल बल्लेबाजी के लिए उतरे। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने सुपर ओवर किया। न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ों में पहली दो गेंदों पर केवल दो रन बनाए। लगा कि भारत ये मैच आसानी से जीत लेगा लेकिन आखिरी चार गेंदों पर न्यूज़ीलैंड ने 15 रन ठोंक दिए और भारत को जीत के लिए 18 रनों का टारगेट दिया।

जवाब में रोहित शर्मा और केएल राहुल सुपरओवर खेलने के लिए उतरे। न्यूजीलैंड की तरफ से टिम सउदी ने सुपर ओवर डाला। आखिरी की दो गेंदों पर भारत को जीत के लिए 10 रनों की जरूरत थी। ऐसे में रोहित ने आखिरी की दो गेंदों पर लगातार दो छक्के जड़कर भारत को जीत दिला दी।

बता दें कि भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में पांच विकेट पर 179 रन बनाए थे। न्यूजीलैंड ने भी 20 ओवरों की समाप्ति तक छह विकेट पर 179 रन बनाए। इसी कारण मैच टाई रहा और मैच का फैसला सुपर ओवर में निकला।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending