Connect with us

प्रादेशिक

लखनऊ में आईएस का संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार

Published

on

lucknow_uttarpradesh_map_240लखनऊ| उत्तर प्रदेश की राजधानी में शुक्रवार देर रात राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) व आतंकवाद निरोधी दस्ता (एटीएस) ने संयुक्त कार्रवाई के दौरान इंदिरानगर के वसंत विहार इलाके से इस्लामिक स्टेट (आईएस) के संदिग्ध आतंकी मो़ अलीम को गिरफ्तार किया। अधिकारियों ने बताया कि उससे किसी गोपनीय स्थान पर पूछताछ की जा रही है। अलीम वीडियोग्राफी का काम करता है, जबकि उसके पिता का इंदिरानगर में सैलून है। अलीम को कुशीनगर में दबोचे गए संदिग्ध आतंकवादी रिजवान से पूछताछ और खुफिया एजेंसियों से मिली जानकारी के बाद पकड़ा गया है।

अलीम से पूछताछ में यह भी पता लगाया जा रहा है कि वीडियोग्राफी के धंधे के जरिए वह किन-किन लोगों के संपर्क में था। इससे पहले भी जांच एजेंसियों के हत्थे ऐसे संदिग्ध आतंकवादी चढ़ चुके हैं, जो वीडियोग्राफी, साइबर कैफे या मैकेनिक आदि के काम में लगे हुए थे। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, जांच एजेंसियां अलीम से यह जानने में लगी हैं कि वह आईएस से कितने समय से जुड़ा है? उसके कौन-कौन से साथी लखनऊ में हैं, उसने आईएस के लिए क्या काम किया है तथा उसे किस साजिश की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। उसका मोबाइल नंबर व ई-मेल अकाउंट भी खंगाला जा रहा है।

प्रादेशिक

बिहार में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामले, मधुबनी के डीएम पाए गए संक्रमित

Published

on

पटना। बिहार में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता चला जा रहा है। राज्य में अब तक 3 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। राज्य के मधुबनी जिले में भी कोरोना के कई मामले सामने आए हैं।

अब जिले के डीएम भी इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ गए हैं। डीएम की रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद अब जिला समाहरणालय समेत अनुमंडल के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

जिला आपदा प्रबंधन शाखा की ओर से जारी लेटर में कहा गया है कि मधुबनी जिले में विगत दिनों से कोरोना संक्रमण में काफी बढ़ोतरी हुई है। इसके लिए समाहरणालय मधुबनी एवं अनुमंडल कार्यालय, सदर मधुबनी में कार्यरत सभी पदाधिकारी और कर्मचारी की भी कोरोना जांच की आवश्यकता महसूस की जा रही है।

बता दें कि बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। बीते 24 घंटे में राज्य में 140 नए मामले सामने आए हैं जिससे यहां कुल कोरोना से पीड़ित लोगों की संख्या 3010 हो गई है।

बिहार में इन दिनों हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर रोजाना आ रहे हैं और प्रखंडों में स्थित क्वारनटीन सेंटर में उन्हें रखा जा रहा है. इसकी पूरी मॉनिटरिंग डीएम कर रहे हैं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending