Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

चीन : शेनझेन में एच5एन6 का तीसरा मामला सामने

Published

on

H5N6-gripe-avear-Chinaशेनझेन। दक्षिणी चीनी शहर शेनझेन में गुरुवार को एच5एन6 बर्ड फ्लू का नया मामला सामने आया। यह इस मौसम में किसी इंसान के इसकी चपेट में आने का तीसरा मामला है। शेनझेन के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र के उप निदेशक मा हान्वू ने कहा कि फुतियान जिले की 31 वर्षीया महिला में आठ जनवरी को बुखार के लक्षण दिखाई दिए थे। उसे 14 जनवरी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और तभी से उसकी हालत नाजुक है।

हान्वू ने कहा कि चिकित्सा उपचार के बाद महिला की हालत आंशिक रूप से स्थिर थी।उन्होंने कहा कि बर्ड फ्लू की एच5एच6 किस्म मानव के लिए कम खतरनाक होती है और यह मनुष्य से मनुष्य में फैलती है, लेकिन बुखार की शिकायत पर होने पर डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए।
शेनझेन में इस बर्ड फ्लू से पहली मौत 30 दिसंबर को हुई थी। मरने वाली 26 वर्षीया युवती थी। उसके जीन के विश्लेषण संकेत मिला है कि वह मुर्गियों या मुर्गी बाजार के संपर्क में आने के बाद इसकी चपेट में आई थी।शेनझेन के अधिकारियों ने नौ जनवरी से तीन सप्ताह के लिए शुरू हुए मुर्गी बाजारों को बंद करने का आदेश दिया है।दुनिया का पहला एच5एन6 संक्रमण मई 2014 को चीन के दक्षिणी-पश्चिमी सिचुआन प्रांत में सामने आया था।

अन्तर्राष्ट्रीय

अमेरिकी सरकार ने दी अपने नागरिकों को चेतावनी, भारत के इस इलाके में न जाएं

Published

on

नई दिल्ली। अमेरिकी सरकार ने अपने नागरिकों को नागरिकता (संशोधन) अधिनियम, 2019 को लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के कारण भारत के पूर्वोत्तर राज्यों का दौरा करने के खिलाफ चेतावनी दी है।

अमेरिकी दूतावास द्वारा शुक्रवार को यहां जारी एक एडवाइजरी में कहा गया है कि अमेरिकी नागरिकों को ‘नागरिकता (संशोधन) कानून’ बनाए जाने के कारण मीडिया में आ रही विरोध और हिंसा की खबरों के मद्देनजर सावधानी बरतनी चाहिए।अमेरिका ने कहा कि उन्होंने असम की आधिकारिक यात्रा को अस्थायी रूप से रद्द कर दिया है।

एडवाइजरी में कहा गया, “इंटरनेट और मोबाइल संचार बाधित हो सकता है। इस क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों में परिवहन प्रभावित हो सकता है। देश के अन्य हिस्सों में भी विरोध प्रदर्शन होने की खबरें हैं।”

अमेरिकी नागरिकों को आसपास के माहौल के बारे में जागरूक रहने, अपडेट के लिए स्थानीय मीडिया की खबरों पर नजर रखने, व्यक्तिगत सुरक्षा योजनाओं की समीक्षा करने और अपनी सुरक्षा के संबंध में दोस्तों और परिवार को सूचित करने के लिए कहा है।

अब कानून बन चुके सीएबी के खिलाफ हजारों प्रदर्शनकारी बुधवार से पूर्वोत्तर की सड़कों पर हैं, प्रदर्शनकारियों की पुलिस से झड़पें हो रही हैं और इस क्षेत्र में अराजकता का माहौल है।

केंद्र सरकार ने इन क्षेत्रों में भारी संख्या में सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया है और सभी हितधारकों के साथ बातचीत कर रही है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending