Connect with us

मुख्य समाचार

अवार्ड लौटाने वाले अब उसे वापस लेने को राजी

Published

on

साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटाने वाली लेखिका नयनतारा सहगल, साहित्यकार कलबुर्गी हत्या और दादरी कांड, राजस्थानी लेखक नंद भारद्वाज, पुरस्कार वापस लेने को राजी

नई दिल्ली। देश में कथित तौर पर इनटॉलरेंस बढ़ने की बात पर साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटाने वाली पं. जवाहर लाल नेहरू की भांजी प्रख्‍यात लेखिका नयनतारा सहगल अब इसे वापस लेने पर राजी हो गई हैं। साहित्यकार कलबुर्गी हत्या और दादरी कांड जैसे मामलों के बाद देश में इनटॉलरेंस बढ़ने की बात कह 40 साहित्यकारों ने अपने साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटा दिए थे। साहित्यकार उदय प्रकाश के साथ नयनतारा सहगल ने ही एक तरह से अवॉर्ड वापसी कैंपेन की शुरुआत की थी। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पंडित जवाहर लाल नेहरू की भांजी नयनतारा अब इसे वापस लेने के लिए तैयार हो गई हैं। नयनतारा सहगल ने कहा कि उन्हें साहित्य अकादमी से एक चिट्ठी मिली। उस चिट्ठी में लिखा गया था कि अकादमी में पुरस्कार लौटाने को लेकर कोई नियम नहीं है। अकादमी पुरस्कार अपने पास नहीं रख सकती। इसलिए अकादमी पुरस्कार वापस भेज रही है।

इसके बाद ही सहगल पुरस्कार वापस लेने को राजी हो गई हैं। उन्होंने उस दौरान एक लाख रुपए का चेक भी लौटा दिया था। नयनतारा सहगल ने कहा कि वे उस पैसे का इस्तेमाल किसी कल्याणकारी काम में करेंगी। साहित्य अकादमी के मुताबिक चेक भी वापस कर दिया गया है। राजस्थानी लेखक नंद भारद्वाज भी पुरस्कार वापस लेने के लिए राजी हो गए हैं। नंद भारद्वाज ने कहा कि वे इनटॉलरेंस के मसले पर साहित्य अकादमी की प्रतिक्रिया से संतुष्ट हैं। इसलिए उन्होंने भी अपना अवॉर्ड वापस ले लिया है। लेकिन साहित्यकार अशोक वाजपेयी अभी अपने पुराने रुख पर ही कायम हैं। अशोक वाजपेयी ने कहा कि उन्हें भी अकादमी से चिट्ठी मिली है। लेकिन मुझे नहीं लगता कि अवॉर्ड वापस लेने के लिए यह कोई वाजिब कारण है। वहीं साहित्य अकादमी के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद तिवारी ने कहा कि अवॉर्ड लौटाने वाले सभी 40 लोगों को चिट्ठी भेजी गई है। उनको भरोसा है कि और दूसरे लेखक भी अकादमी की चिट्ठी पर जवाब जरूर देंगे।

मनोरंजन

मिशन मंगल के डायरेक्टर अस्पताल में भर्ती, हालत गंभीर

Published

on

मुंबई। ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘मिशन मंगल’ के डायरेक्टर जगन शक्ति को गंभीर हालत में हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

जानकारी के मुताबिक डायरेक्टर के ब्रेन में ब्लड के क्लॉट हो गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जगन शक्ति अपने दोस्तों के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड कर रहे थे, तभी अचानक वो चक्कर खाकर गिर पड़े। इसके बाद उन्हें तुरंत ही हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। जगन की तबीयत बिगड़ने की खबर सुनकर उनकी फैमिली भी उनके पास मुंबई आ गई है।

बता दें कि जगन शक्ति ने अक्षय कुमार स्टारर मिशन मंगल फिल्म से डायरेक्शन में डेब्यू किया था। पहली ही फिल्म से जगन को काफी सराहना मिली और उनकी ये फिल्म सुपरहिट हुई। वहीं, इससे पहले उन्होंने आर बाल्की के साथ कई फिल्मों में असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर पर भी काम किया है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending