Connect with us

नेशनल

कई नेताओं के हैदराबाद विश्वविद्यालय दौरे का कार्यक्रम

Published

on

हैदराबाद| हैदराबाद विश्वविद्यालय में दलित शोध छात्र रोहित वेमुला की खुदकुशी पर सियासत गरमा गई है। विश्वविद्यालय में आक्रोश से भरे विद्यार्थियों के विरोध प्रदर्शन के बीच विद्यार्थियों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए राजनेता विश्वविद्यालय परिसर का रुख कर रहे हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बाद बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो मायावती और मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी बुधवार को विश्वविद्यालय पहुंच रहे हैं।

इनके अलावा ‘लोक जनशक्ति पार्टी’ (लोजपा) के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान और उनके भाई रामचंद्र पासवान भी यहां विद्यार्थियों और रोहित के परिवार से मुलाकात करेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के गुरुवार को विश्वविद्यालय पहुंचने की संभावना है। तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ ब्रायन और प्रतिमा मंडल ने चार अन्य निलंबित दलित छात्रों और प्रदर्शनकारी छात्रों से मंगलवार रात मुलाकात की।

सांसद बुधवार को भी परिसर का दौरा करेंगे और विद्यार्थियों को संबोधित करेंगे। रोहित की मां और उनके भाई से उनके घर पर मुलाकात कर चुके वाईएसआर कांग्रेस के नेता वाई. एस. जगनमोहन रेड्डी भी परिसर का दौरा करेंगे। आंध्र प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता ने भी पीड़ित परिवार को मदद का आश्वासन दिया है। मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी मंगलवार को परिसर का दौरा कर विद्यार्थियों के साथ एकजुटता प्रदर्शित की। विश्वविद्यालय पहुंचने वाले नेताओं की इस लंबी कतार में कई अन्य नेताओं के नाम भी जुड़ने वाले हैं।

नेशनल

जस्टिस बोबडे हो सकते हैं अगले मुख्य न्यायाधीश, सीजेआई ने पत्र लिखकर की सिफारिश

Published

on

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं ऐसे में नए चीफ जस्टिस की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

जस्टिस रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर उनके बाद जस्टिस एसए बोबडे को देश का अगला मुख्य न्यायाधीश बनाने का सिफारिश की है।

यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों से सामने आई है। प्रक्रिया के अनुसार, वर्तमान सीजेआई ही अगले सीजेआई की सिफारिश करता है। आपको बता दें कि जस्टिस रंजन गोगोई के बाद जस्टिस बोबडे सुप्रीम कोर्ट में दूसरे वरिष्ठतम जज हैं।

अगर उनके नाम पर सहमति बन गई तो जस्टिस बोबडे 18 नवंबर को सीजेआई के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे। वे देश के 47वें मुख्य न्यायाधिश होंगे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending