Connect with us

मुख्य समाचार

जेटली ने कांग्रेस की आलोचना की

Published

on

नई दिल्ली| केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कांग्रेस की आलोचना की और कहा कि जिन लोगों ने देश में आपातकाल लगाया, वे आज संवैधानिक सिद्धांतों की बात कर रहे हैं। जेटली ने राज्यसभा में कहा, “आपातकाल के दौरान मौलिक अधिकार छीन लिए गए थे। आपातकाल के दौरान सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय को समझाया था कि आपातकाल के दौरान जनता का जीने का अधिकार और (संविधान के) अनुच्छेद 21 के तहत प्रदत्त आजादी समाप्त हो जाती है।”

केंद्रीय वित्तमंत्री ने कहा, “आपातकाल के बाद अनुच्छेद 21 को निलंबित न करने का प्रावधान किया गया। यानी आज हम अपेक्षाकृत अधिक सुरक्षित हैं। जिन लोगों ने आपातकाल का समर्थन किया था, वे आज संवैधानिकता की बात कर रहे हैं।”

जेटली संविधान निर्माता बाबा भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती पर राज्यसभा में एक चर्चा के दौरान बोल रहे थे।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को संसद में कहा था कि संविधान में निहित सिद्धांतों और आदर्शो पर जानबूझकर हमले किए जा रहे हैं।

जेटली ने अंबेडकर के बारे में कहा, “अंबेडकर न सिर्फ हमारे संविधान के निर्माता हैं, बल्कि वह एक सामाजिक सुधारक भी हैं।”

उन्होंने कहा, “अंबेडकर ने सामाजिक बुराइयों के खिलाफ लड़ाई लड़ी। उन्होंने सामाजिक अन्याय से बचने और भेदभाव से लड़ने का रास्ता दिखाया। पिछले 65 वर्षो के दौरान लोकतंत्र मजबूत हुआ है।”

जेटली ने राज्यसभा में कहा, “अंबेडकर के संविधान में मजहब को खारिज किया गया है। संविधान धर्म का समर्थन या विरोध नहीं करता। इसमें कहा गया है कि राज्य धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं करेगा।”

मनोरंजन

योगी-आजम के बाद अब चुनाव आयोग ने ‘मोदी’ पर लगाया बैन

Published

on

नई दिल्ली। विवके ओबॉय कि फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ पर बैन लगाने के बाद चुनाव आयोग ने अब नरेंद्र मोदी पर बनी वेबसीरीज पर भी रोक लगा दी है।

शनिवार को आयोग ने Modi-Journey of a Common Man  पर बैन लगाते हुए इरोज नाऊ को इसकी स्ट्रीमिंग बंद करने का आदेश दे दिया।

आपको बता दें कि इससे पहले आयोग विवेक ओबेरॉय स्टारर फिल्म “पीएम नरेंद्र मोदी” को रिलीज से ठीक एक दिन पहले बैन कर कर चुका है।

फिल्म 12 अप्रैल को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही थी लेकिन आचार संहिता लागू होने की वजह से यह फिल्म सिनेमाघरों में नहीं लग सकी। बैन करने के पीछे आयोग ने तर्क दिया था कि ऐसी फिल्में रिलीज होने से चुनाव के समय वोटर्स  प्रभावित हो सकते हैं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending