Connect with us

नेशनल

अंबेडकर ने देश को एकसूत्र में पिरोया : राजनाथ

Published

on

नई दिल्ली| केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को संविधान निर्माता बी.आर. अम्बेडकर के योगदान को याद करते हुए कहा कि उन्होंने देश को एकता के सूत्र में पिरोया। डॉ. बी.आर.अंबेडकर की देशभर में मनाई जा रही 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में संविधान के प्रति प्रतिबद्धताओं पर चर्चा के लिए संसद में आयोजित दो दिवसीय विशेष सत्र के दौरान गृह मंत्री ने लोकसभा में देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और प्रथम गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल को भी श्रद्धांजलि दी।

राजनाथ ने कहा, “जब हमारा देश स्वतंत्र हुआ, यह विभिन्न रियासतों में बंटा था। वे चकित थे कि क्या देश फिर कभी एकजुट हो पाएगा। सरदार वल्लभभाई पटेल ने हमें ‘एक भारत’ दिया, लेकिन उस समय हमें एक ऐसी सामग्री की आवश्यकता थी, जो देश को एकजुट रख सके।”

उन्होंने कहा, “देश को एकजुट रखने वाला वह साधन संविधान था। इसने महत्वपूर्ण भू्मिका निभाई। हम जानते हैं कि इस दौरान उन्होंने कितनी समस्याओं का सामना किया, जिनसे उन्हें जरूर चोट पहुंची होगी, लेकिन उन्होंने अपनी भावनाओं को नियंत्रण में रखा।”

उन्होंने अभिनेता आमिर खान का नाम लिए बगैर असहिष्णुता पर की गई उनकी टिप्पणी के संदर्भ में कहा, “लेकिन उन्होंने (अम्बेडकर) कभी नहीं कहा कि उन्हें देश में भेदभाव का सामना करना पड़ा है और इसलिए वह कहीं और जाकर बस जाएंगे।”

राजनाथ के ऐसा कहने पर कई कांग्रेस सदस्यों ने इस पर आपत्ति जताई। हालांकि लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने उन्हें अपनी बात जारी रखने की अनुमति देते हुए कहा कि इसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है।

देश के गृह मंत्री ने यह भी कहा कि अंबेडकर को सिर्फ एक दलित नेता के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। उन्हें सिर्फ इस नजरिए से देखना ओछी मानसिकता को दर्शाता है।

नेशनल

किसान ने बनाई पेड़ पर चलने वाली बाइक, वीडियो देखकर गर्व से चौड़ा हो जाएगा सीना

Published

on

मुंबई। ऊंचे पेड़ों पर चढ़ने के लिए किसान आमतौर पर रस्सियों का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन पेड़ पर चढ़ने का ये तरीका बेहद खतरनाक होता है। थोड़ी सी भी चूक होने पर किसान गंभीर रुप से घायल या उसकी मौत भी हो सकती है।

इन परेशानियों को देखते हुए कर्नाटक के किसान गणपति भट्ट ने पेड़ पर चलने वाली मोटरसाइकिल बनाई है। इस पर बैठकर कोई भी शख्स आसानी से पेड़ पर चढ़ सकता है।

मंगलुरु के सजीमामूडा गांव के 48 वर्षीय भट्ट ने बताया कि यह एक बेहद आसान और उपयोगी आविष्कार है जिसकी मदद से 60 से 80 किलोग्राम का कोई भी शख्स उस पर बैठकर आराम से पेड़ की ऊंचाई तक चढ़ सकता है।

खास बात ये है कि मशीन पेट्रोल से चलती है। इस मशीन को तैयार करने में किसानों की सुरक्षा का खास ख्याल रखा गया है। इस बाइक की मजबूती का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है, वीडियो पेड़ से बंधे इस बाइक मशीन पर खड़े होकर शख्स को कूदते हुए देखा जा सकता है जिससे ये पता चलता है कि ये मशीन कितनी मजबूत है।

सोशल मीडिया पर इस बाइक का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये बाइक 100 का एवरेज देती है यानि एक लीटर पेट्रोल में इस बाइक से 100 पेड़ों पर चढ़ा जा सकता है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending