Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

बेंगलुरू कैब चालकों के लिए पृष्ठभूमि जांच अनिवार्य

Published

on

बेंगलुरू| बेंगलुरू में पुलिस ने नागरिकोंे की सुरक्षा सुनिश्चित करने की ओर पहल करते हुए मंगलवार को सभी कैब चालकों के लिए पृष्ठभूमि जांच अनिवार्य कर दिया।

एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि शहरवासियों खासकर महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया गया है, जो शहर में कहीं आने जाने के लिए टैक्सी या कैब सेवा का इस्तेमाल करते हैं।

बेंगलुरू के पुलिस आयुक्त एम. एन. रेड्डी ने संवाददाताओं को बताया, “हमने शहर में सभी टैक्सी संचालकों को निर्देश जारी किए हैं कि अपने चालकों की पृष्ठभूमि की जांच कर लें और हमारे द्वारा जांच के सत्यापन हुए बिना किसी भी चालक को काम पर न रखें।”

यह फैसला राजधानी दिल्ली में पांच दिसंबर को एक कैब चालक द्वारा एक महिला के साथ दुष्कर्म की घटना के प्रकाश में आने के बाद राज्य परिवहन आयुक्त रामगौड़ा और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की एक बैठक में लिया गया।

रेड्डी ने कहा, “कैब संचालक और टैक्सी मालिक यदि किसी चालक की पृष्ठभूमिक की जांच पड़ताल किए बिना उसे काम पर रखते हैं, तो इसके लिए वे जवाबदेह होंगे।”

उन्होंने कहा, “कैब संचालकों और टैक्सी मालिकों को अपने सभी चालकों की एक सूची क्षेत्र के पुलिस थाने में सौंपनी होगी, जिसमें चालकों की पृष्ठभूमि, उनका ड्राइविंग लाइसेंस, स्थाई और अस्थाई पता, शैक्षणिक योग्यता, मोबाइल नम्बर और स्वास्थ्य संबंधी भी जानकारियां शामिल होगी।”

रेड्डी ने कैब संचालकों और टैक्सी मालिकों को आगाह किया है कि यदि कोई ग्राहक या उपभोक्ता उनके चालकों के खिलाफ बुरे बर्ताव, तेज गाड़ी चलाने, गलत शब्द बोलने और आपराधिक व्यवहार जैसी गंभीर शिकायत दर्ज करता है, तो परिवहन विभाग उनके लाइसेंस रद्द कर देगा।

इस बीच, रामगौड़ा ने भी क्षेत्रीय परिवहन अधिकारियों (आरटीओ) को निर्देश दिया है कि शहर में कैब चालकों की नियमित जांच हो और यदि चालक के पास पर्याप्त दस्तावेज न मिलें तो उसे उसका लाइसेंस रद्द कर दिया जाए।

अन्तर्राष्ट्रीय

अब अमेरिका देगा चीन को झटका, टिक टॉक समेत कई एप करेगा बैन

Published

on

वाशिंगटन। भारत के बाद अमेरिका भी टिक टॉक समेत तमाम चीनी ईपीएस पर बैन लगाने की तैयारी में है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि हम निश्चित रूप से चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहे हैं। अमेरिका का ये बयान चाइनीज ऐप पर भारत में हुई कार्रवाई के 6 दिन बाद आया। टिकटॉक जैसे चाइनीज ऐप से अमेरिका भी राष्ट्रीय सुरक्षा का खतरा बता चुका है।

इससे पहले पिछले दिनों भारत सरकार ने टिक टॉक समेत 59 चाइनीज ऐप को बैन कर दिया था। इसके बाद चाइनीज कंपनियों की तरफ से सरकार से अपील की जा रही है कि वे भारतीय यूजर्स का डेटा चाइनीज सरकार के साथ शेयर नहीं कर रही थीं। टिकटॉक के सीईओ केविन मेयर ने भारत सरकार को चिट्ठी लिखकर कहा कि चाइनीज सरकार ने कभी भी यूजर्स के डेटा की मांग नहीं की है।

कंपनी लगातार सफाई दे रही है कि भारतीय यूजर्स का डेटा सिंगापुर के सर्वर में सेव हो रहा है और चीन की सरकार ना तो कभी डेटा की मांग की है और ना ही कंपनी इस रिक्वेस्ट को कभी पूरा करेगी।

#mike pompeo #china #tiktok #america

Continue Reading

Trending