Connect with us

नेशनल

दिल्ली में बच्ची को गोली मारी

Published

on

नई दिल्ली | पूर्वी दिल्ली के आनंद विहार इलाके में रविवार शाम कथित तौर पर सामान छीनने की कोशिश में दो मोटरसाइकिल सवारों में से एक ने 10 साल की बच्ची के पैर में गोली मार दी। पुलिस ने सोमवार को कहा कि घटना रविवार शाम करीब पांच बजे की है, जब मोनी (10), उसकी मां और भाई ऑटोरिक्शा में सवार होकर उत्तर प्रदेश के हरदोई स्थित अपने गांव जाने के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय बस अड्डे से बस लेने जा रहे थे।

पूर्वी दिल्ली के आनंद विहार इलाके में ‘ईस्ट दिल्ली मॉल’ के पास दो मोटरसाइकिल सवारों ने रविवार शाम करीब पांच बजे उनका रास्ता रोक लिया और उनका सामान छीनने की कोशिश की। इस दौरान उनमें से एक ने बच्ची को पैर में गोली मार दी। मोनी की मां मंजू ने पुलिस को दिए बयान में कहा मोटरसाइकिल पर सवार दो लोगों ने पीछे से आकर जबर्दस्ती ऑटो रुकवाई। उन्होंने हमारा सामान छीनने की कोशिश की। जब हमने विरोध किया तो उनमें से एक ने हम पर गोली चला दी।

पुलिस के मुताबिक, गोली मोनी के बाएं पैर में लगी। उसे नजदीकी अस्पताल में दाखिल करा दिया गया है| जहां उसकी हालत खतरे से बाहर है। गोली चलाने वाले आरोपियों का अभी तक पता नहीं चला है।

 

नेशनल

चैनल पर डिबेट के दौरान बार-बार सीने पर हाथ रख रहे थे राजीव त्यागी, पत्नी को हो गया था शक

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस के तेजतर्रार प्रवक्ता राजीव त्यागी का बुधवार को अचानक दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। बुधवार को ही शाम पांच बजे वो अपने घर से ही आजतक के कार्यक्रम में एक डिबेट में शामिल हुए थे। जानकारी के मुताबिक, जिस वक्त राजीव डिबेट में होते थे, उस वक्त उनके कमरे में कोई भी नहीं जाता था।

बुधवार को जब वह डिबेट में चर्चा कर रहे थे, उसी वक्त पड़ोस के कमरे में उनकी पत्नी संगीता और बेटा धनंजय भी टीवी पर उन्हें देख रहे थे। टीवी पर उन्हें बार-बार पानी पीते और सीने पर हाथ लगाते देख उन्हें कुछ शक हुआ। इसके बाद डिबेट खत्म होने के चंद सेकंड बाद ही जब वो राजीव के कमरे में गईं तो उन्होंने कहा कि मुझे कुछ असहज महसूस हो रहा है। इसके बाद वो कुर्सी से जमीन पर गिर पड़े। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

डॉक्टर ने कहा कि ‘उन्हें शाम को करीब साढ़े छह बजे हॉस्पिटल लाया गया। उनका ब्लड प्रेशर और पल्स नहीं था। हमनें उन्हें तुरंत सीपीआर दिया। वेंटिलेटर पर रखा गया। 45 मिनट तक उन्हें सीपीआर दिया गया। मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका। राजीव त्यागी के अचेत होने के बाद उन्हें यशोदा हॉस्पिटल में ही भर्ती कराया गया था।

#rajivtyagi #aajtak #debate #death

Continue Reading

Trending