Connect with us

प्रादेशिक

मप्र में बारिश से 69 लोगों की मौत

Published

on

भोपाल| मध्य प्रदेश में बारिश ने इस साल काफी कहर बरसाया है। राज्य में बारिश से जहां बाढ़ के हालात बने, वहीं इंसान से लेकर जानवरों तक की जिंदगी मुसीबत में पड़ गई। बारिश से राज्य में अब तक 69 लोगों की मौत हो चुकी है। राजस्व विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, इस साल मानसून की बारिश में एक जून से 12 अगस्त के बीच 69 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें सबसे ज्यादा 19 मौतें सीहोर जिले में हुई है। इसके अलावा राजगढ़ में नौ, इंदौर में सात, रायसेन, शाजापुर व रतलाम में छह-छह, उज्जैन में पांच, खंडवा में चार, आगर मालवा में तीन, छतरपुर में दो और धार व देवास में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। वहीं रतलाम जिले में तीन लोग लापता हैं। राज्य में बारिश से कई मकान ढह गए और 205 पशुओं की जानें गईं हैं।

राजस्व विभाग की ओर से जारी ब्यौरे के अनुसार, राज्य में एक जून से 12 अगस्त तक 21 जिले में सामान्य से अधिक, 16 जिलों में सामान्य एवं 14 जिलों में कम वर्षा हुई है। सामान्य से अधिक वर्षा वाले जिलों में इंदौर, धार, झाबुआ, अलीराजपुर, उज्जैन, मंदसौर, नीमच, रतलाम, देवास, शाजापुर, आगर-मालवा, गुना, भोपाल, सीहोर, राजगढ़ रायसेन, खंडवा, हरदा, बैतूल, खरगोन एवं छिंदवाड़ा शामिल हैं।

वहीं, 16 जिलों जबलपुर, सिवनी, मंडला, डिंडोरी, नरसिंहपुर, सतना, सिंगरौली, होशंगाबाद, अशोकनगर, विदिशा, ग्वालियर, उमरिया, शिवपुरी, बुरहानपुर, बड़वानी, एवं भिंड में सामान्य वर्षा हुई है। इसके अलावा कटनी, बालाघाट, पन्ना, अनूपपुर, दमोह, सीधी, सागर, टीकमगढ़, मुरैना, दतिया, शहडोल, छतरपुर, श्योपुर और रीवा ऐसे जिले हैं, जहां कम बारिश दर्ज की गई है।

 

प्रादेशिक

कमलेश तिवारी हत्याकांडः नागपुर से एक और आरोपी गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। कमलेश तिवारी हत्याकांड की जांच में जुटी टीम को बड़ी कामयाबी मिली है। नागपुर एटीएस ने सैयद असीम अली नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है। आपको बता दें कि इस हत्याकांड में अब तक कुल 4 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सैयद लगातार कमलेश तिवारी हत्याकांड के मास्टरमाइंड राशीद से संपर्क में था। हत्या के बाद भी हत्यारों ने सैयद को फोन किया था। यूपी पुलिस अब सैयद और सूरत से गिरफ्तार 3 आरोपियों के आमने सामने बैठा कर पूछताछ करेगी।

इसके पहले मामले में तीन आरोपियों को यूपी एटीएस गुजरात से लेकर लखनऊ आई। जिनसे एटीएस मुख्यालय में पूछताछ की जा रही है।

वहीं, शनिवार शाम को पुलिस ने लखनऊ के कैसरबाग स्थित खालसा होटल के उस कमरे की तलाशी ली थी जिसमें कमलेश तिवारी के हत्यारे ठहरे हुए थे। शुक्रवार दोपहर वारदात के बाद दोनों वापस होटल पहुंचे और कपड़े बदलकर भाग गए।

पुलिस ने शनिवार देर रात होटल के कमरे से कमलेश की हत्या में इस्तेमाल चाकू और खून से सना भगवा रंग का कुर्ता बरामद कर लिया है। बरामद सामान को फोरेंसिक जांच के लिए भेजकर कमरा सील कर दिया गया।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending