Connect with us

मनोरंजन

महज 38 दिनों में बनी फिल्म ‘नॉर्थ 24 काधम’

Published

on

पणजी| मलयालम भाषा में बनी फीचर फिल्म ‘नॉर्थ 24 काधम’ महज 38 दिनों में तैयार कर ली गई थी और यह बॉक्स ऑफिस पर सफल साबित हुई थी। एक छोटे से दायरे में चीजों को देखने से कभी-कभी जीवन के प्रति छलावा भरी धारणा बन जाती है और फिर बाद में ज्यादा से ज्यादा सामाजिक मेलजोल होने से ही इस पर विजय प्राप्त की जा सकती है। यह फिल्म इसी खास विषय पर केंद्रित है। 45वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में यह फिल्म गुरुवार को दिखाई गई थी।

फिल्म के निर्देशक अनिल राधाकृष्णन मेनन ने कहा कि यह फिल्म एक साल पहले रिलीज हुई थी और इसे कई राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय पुरस्कार मिल चुके हैं।

उन्होंने कहा कि फिल्म की कहानी कुछ इस तरह से है : एक युवा आईटी प्रोफेशनल हरि ओसीडी (जुनूनी बाध्यकारी विकार) नामक एक मानसिक बीमारी से पीड़ित है। एक दिन हड़ताल थी। इस रोज तकरीबन हर गतिविधि के ठप पड़ जाने की बात को ध्यान में रखते हुए हरि सड़क पर घूमने निकल पड़ा।

इस दौरान हरि की मुलाकात संयोगवश एक बुजुर्ग के अलावा एक नवयुवती से भी हुई, जो एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) में कार्यरत थी। इस सैर के दौरान हरि का वास्ता अनेक घटनाओं और लोगों से पड़ा। इन सबकी गहरी छाप उसके मन पर पड़ी और इस प्रक्रिया में उसने अंतत: अपनी सनक अथवा जुनून पर विजय प्राप्त कर ली। हरि को आखिरकार यह अहसास हो गया कि उसकी पागलपन संबंधी धारणाओं से भी इतर जिंदगी है।

मनोरंजन

महाराष्ट्र में भी टैक्स फ्री हुई ‘तानाजी’

Published

on

मुंबई। यूपी के बाद अब अजय देवगन की फिल्म तानाजी को महाराष्ट्र में भी टैक्स फ्री कर दिया गया है। महाराष्ट्र सरकार की कैबिनेट बैठक के बाद ये फैसला लिया। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर शानदार प्रदर्शन कर रही है। फिल्म ने अब तक 178 करोड़ रु से ज्यादा की कमाई कर ली है।

दरअसल महाराष्ट्र सरकार में मंत्री बालासाहेब थोराट और पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने राज्य में इस फिल्म को टैक्स फ्री करने की मांग की थी, जिसके बाद आज ये फैसला लिया गया है।

आपको बता दें कि शिवसेना ने अपनी पार्टी की स्थापना को लेकर अब तक मराठी मानुष के नाम से राजनीति की है। अजय देवगन की फिल्म ‘तानाजी: द अनसंग वॉरियर’ की फिल्म मालसुरे पर बनी है जो मराठों के महानायक थे। ऐसे में अगर महाराष्ट्र सरकार ही अपने राज्य में इस फिल्म को ट्रैक्स फ्री नहीं कर पा रही थी, तो इसे राजनीतिक दबाव समझा जा रहा था। दूसरी तरफ छपाक भी कई राज्यों में टैक्स फ्री की जा चुकी है। हालांकि ये सब वहीं राज्य हैं जहां कांग्रेस या कांग्रेस के सहयोग से बनी सरकार है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending