Connect with us

प्रादेशिक

गाजियाबाद मंडल में दौड़ेंगे 2 हजार ई-रिक्शा

Published

on

गाजियाबा। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र गाजियाबाद, नोएडा, हापुड़ व बुलंदशहर में आवागमन को आसान बनाने के लिए परिवहन विभाग चारों जिलों में दो हजार ई-रिक्शा चलवाएगा। क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए) से हरी झंडी मिलने के बाद परिवहन विभाग ने ई-रिक्शा के संचालन की सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं।

आरटीओ मयंक ज्योति ने बताया कि शहर में थोड़ी दूरी के आवागमन के लिए लोगों को परेशानी न उठानी पड़े, इसलिए गाजियाबाद संभाग में ई-रिक्शा को वैध करते हुए परमिट जारी कर चलवाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि गाजियाबाद में 600, नोएडा में 400, हापुड़ में 500 और बुलंदशहर में 500 ई-रिक्शा के परमिट जारी किए जाएंगे। प्रशासनिक और निगम अफसरों के साथ बैठक कर नोएडा, बुलंदशहर और हापुड़ में ई-रिक्शा के रूट फाइनल कर लिए गए हैं। गाजियाबाद के रूट को लेकर भी एक दौर की वार्ता हो चुकी है। जल्द ही गाजियाबाद में भी ई-रिक्शा का रूट फाइनल कर दिया जाएगा।

वर्तमान में गाजियाबाद, नोएडा, हापुड़ व बुलंदशहर में बिना परमिट के अवैध रूप से ई-रिक्शों का संचालन हो रहा है। ई-रिक्शा के परमिट जारी होने से एक तरफ जहां शहर में अवैध रूप से चल रहे ई-रिक्शा वैध हो जाएंगे, वहीं परमिट पर लगने वाले कर से परिवहन विभाग की आय में भी इजाफा होगा।

 

प्रादेशिक

हाथरस के दरिंदों को सार्वजनिक रूप से गोली मारो: कंगना रनौत

Published

on

मुंबई। उत्तर प्रदेश के हाथरस में दुष्कर्म का शिकार युवती का दिल्ली में अस्पताल में इलाज के दौरान मौत होने से पूरा देश गुस्से में है। सभी आरोपियों की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कर जल्द से जल्द फांसी देने की मांग कर रहे हैं। जहां प्रदेश में सभी विपक्ष दलों ने मामले को लेकर योगी सरकार पर जमकर हमला बोला है, वहीं इस मामले में एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी अपना गुस्सा जाहिर किया है.

अभिनेत्री कंगना ने ट्वीट किया, ”इन दुष्कर्मियों को सार्वजनिक रूप से गोली मार देनी चाहिए। इन सामूहिक दुष्कर्मों का क्या समाधान है, जिनकी संख्या में हर साल बढ़ोतरी हो रही है। यह इस देश के लिए कितना दुखद और शर्मनाक दिन है। हम शर्मिंदा हैं क्योंकि हम अपनी बेटियों की सुरक्षा करने में विफल रहे।

दिल्ली के अस्पताल में हुई मौत

बता दें कि हाथरस में गैंगरेप की शिकार 19 वर्षीय दलित युवती की मंगलवार को दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई। चार लोगों ने कुछ दिन पहले उसके साथ गैंगरेप किया था। गैंगरेप के बाद दलित बिटिया की जुबान काटी गई और भयानक जख्म दिए गए थे। 14 सितंबर को, पीड़िता के गर्दन में पड़े दुपट्टे से एक खेत में उसे खींचा गया, जब वह पशुओं का चारा लेने गई थी, जिससे उसकी रीढ़ की हड्डी में चोट लग गई। जब उसका गला घोंटने की कोशिश की गई तो उसने अपनी जीभ को दांतों से जोर से काटा जिससे जीभ पर गहरा जख्म हो गया।

अलीगढ़ अस्पताल में न्यूरोसर्जरी के प्रमुख फखरुल होदा ने कहा कि उसकी रीढ़ को ठीक करने के लिए सर्जरी केवल उसकी स्थिति में सुधार के बाद ही की जा सकती थी। रीढ़ की हड्डी को नुकसान स्थायी रूप से दिखाई दिया। पांच भाई-बहनों में सबसे छोटी पीड़िता कुछ समय के लिए लाइफ सपोर्ट पर भी रखी गई। पिता के कहने पर लड़की को सोमवार को दिल्ली रेफर किया गया था। उसका भाई उसे दिल्ली ले गया। अस्पताल में भर्ती होने के एक हफ्ते बाद, लड़की ने पुलिस को बताया कि उसके साथ चार लोगों ने दुष्कर्म किया था, जिसका नाम भी उसने बताया था। सभी चार आरोपियों के नाम संदीप, रामू, लवकुश और रवि हैं, जिन्हें दुष्कर्म, हत्या के प्रयास और एससी / एसटी अधिनियम की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया।

Continue Reading

Trending