Connect with us

मुख्य समाचार

सतलोक आश्रम में 4 महिलाओं की मौत का दावा

Published

on

चंडीगढ़| विवादित संत रामपाल के आश्रम के अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि आश्रम परिसर में की गई पुलिस कार्रवाई में कम से कम चार महिलाओं की मौत हो गई है। आश्रम के प्रवक्ता राज कपूर ने कहा कि महिलाओं की मौत पुलिस कार्रवाई में हुई है। हरियाणा के पुलिस महानिदेशक एस.एन. वशिष्ठ ने कहा कि रामपाल की गिरफ्तारी के लिए की गई पुलिस कार्रवाई में कोई मौत नहीं हुई है।

वशिष्ठ ने मीडिया से कहा, “पुलिस कार्रवाई में कोई मौत नहीं हुई है। कुल 109 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। नौ पुलिसकर्मियों को गोली लगी है। एक एसएचओ के गले में गोली लगी है।” उन्होंने कहा कि जली हुई अवस्था में एक महिला को अस्पताल में भर्ती कराया है।  वशिष्ठ ने कहा, “अंदर लोग बंधक बने हुए हैं। उनमें से अधिकांश बेगुनाह हैं और हम नहीं चाहते कि उन्हें किसी तरह का नुकसान हो। पुलिस ने बहुत संयम दिखाया है।” रामपाल के अनुयायियों ने एक जेसीबी मशीन को आग के हवाले कर दिया, जिसे पुलिस ने आश्रम परिसर की एक दीवार तोड़ने के लिए लाया था।

प्रादेशिक

यौन शोषण केस में पूर्व गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। यौन शोषण के आरोपी पूर्व गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को शुक्रवार को स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने गिरफ्तार कर लिया।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गठित एसआईटी टीम ने चिन्मयानंद को शाहजहांपुर से गिरफ्तार किया। जानकारी के मुताबिक अब उनका मेडिकल टेस्ट करवाने के लिए जिला अस्पताल ले जाया जा रहा है।

जिला अस्पताल में भारी फोर्स तैनात है। एसआईटी की टीम भी जिला अस्पताल में मौजूद है। आपको बता दें कि लॉ की एक छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाया था जिसके बाद वह विवादों में आ गए थे।

सोशल मीडिया पर चिन्मयानंद का एक वीडियो भी वायरल हुआ था जिसमें वह एक लड़की से मसाज कराते नजर आ रहे हैं। शाहजहांपुर जिला अस्पताल में मेडिकल करवाने के बाद चिन्मयानंद को आज ही अदालत में पेश किया जाएगा।

गिरफ्तारी के बाद स्वामी चिन्मयानंद की वकील पूजा सिंह ने बताया कि उनके मुवक्किल को उनके घर से ही गिरफ्तार किया गया है। दुषकर्म के आरोपों के सिलसिले में पिछले शुक्रवार को SIT की टीम ने करीब 7 घंटे तक स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ की थी। स्वामी चिन्मयानंद से पुलिस लाइन में स्थित एसआईटी के दफ्तर में पूछताछ की गई थी।

स्वामी चिन्मयानंद से सारे सवाल छात्रा और उसके आरोपों के बारे में ही पूछे गए। चिन्मयानंद से पूछा गया कि आखिरकार उनसे जुड़े वीडियो का सच क्या है? वह छात्रा को कैसे जानते हैं?

छात्रा की ओर से लगाए गए दुष्कर्म के आरोपों के बारे में उनका क्या कहना है? एसआईटी ने कॉलेज के हॉस्टल के कमरे में मिले साक्ष्यों के आधार पर भी स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ की।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending