Connect with us

मुख्य समाचार

हरियाणा : पुलिस ने मीडियाकर्मियों को निशाना बनाया

Published

on

बरवाला (हरियाणा)| हरियाणा के हिसार जिले में मंगलवार को विवादित संत रामपाल के अनुयायियों और सुरक्षाबलों की झड़प की कवरेज कर रहे कुछ मीडियाकर्मी पुलिस कार्रवाई के दौरान घायल हो गए। आरोप है कि सतपाल के अनुयायियों और सुरक्षाबलों की हिंसक झड़प की कवरेज कर रहे मीडियाकर्मियों को पुलिस ने बरवाला कस्बे के करीब सतलोक आश्रम के पास अचानक अपना निशाना बनाया।

हरियाणा के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस.एन. वशिष्ठ के मौखिक आदेशों के बाद हिसार पुलिस खुद मीडिया को आश्रम परिसर के पास लेकर गई थी। पिछले एक सप्ताह से सतलोक आश्रम के बाहर जारी गतिरोध की कवरेज कर रहे एक पत्रकार ने कहा, “पुलिस हमें खुद आगे लेकर गई थी। हम तो दूर से घटना की कवरेज कर रहे थे। उसके बाद पुलिस अचानक हमारे पीछे से आई और सभी पत्रकारों पर हमला बोल दिया। पुलिस ने पत्रकारों पर बेरहमी से लाठियां बरसाईं। कई को चोटें आई हैं। कैमरे टूट गए या उन्हें छीन लिया गया।”

पत्रकारों के पैरों और हाथों में चोटें आईं हैं। एक अन्य टेलीविजन पत्रकार ने कहा, “ऐसा लग रहा था कि पुलिस नहीं चाहती थी कि झड़प के दृश्य कैमरे में उतारे जाएं। उन्होंने कैमरे और अन्य उपकरण तोड़ दिए। पत्रकारों को खेतों में दौड़ाया गया और उनसे मारपीट की गई। उन्हें कोई चिकित्सा सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई।” अधिकांश पत्रकारों ने कहा कि वे पुलिस के इस हमले से अनजान थे।

नेशनल

वाराणसी के गैर सरकारी संगठनों से पीएम ने की सीधी बात, पूछा हालचाल

Published

on

By

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों से बातचीत कर रहे हैं। इस बैठक में वो कोरोना वायरस संकट के कारण लागू लॉकडाउन के दौरान उनकी तरफ खाद्यान्न वितरण एवं अन्य सहायता पहुंचाने संबंधी प्रयासों के बारे में चर्चा कर रहे हैं।

स्पेशल रिपोर्ट : मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार हुआ आठ पुलिस वालों का हत्यारा विकास दुबे

उन्होंने कहा कि हजारों लोगों ने काशी के गौरव को बढ़ाया है। सैकड़ों संस्थाओं ने अपने आप को खपा दिया है। सबसे मैं बात नहीं कर पाया हूं, लेकिन मैं हर किसी के काम को आज नमन करता हूं। सेवाभाव से जुड़े हुए हर व्यक्ति को मैं प्रणाम करता हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने कहा आज जब मैं आपसे बात कर रहा हूं, तब आपसे केवल जानकारी नहीं ले रहा हूं, बल्कि आप सबसे प्रेरणा ले रहा हूं। अधिक काम करने के लिए, आप जैसे लोगों ने इस संकट में काम किया, इनके आशीर्वाद ले रहा हूं।

कोरोना के इस संकट काल ने दुनिया के सोचने-समझने, काम-काज करने, खाने-पीने सबके तौर-तरीके पूरी तरह से बदल दिए हैं। जिस प्रकार से आपने सब ने सेवा की, इस सेवा का समाज जीवन पर बड़ा प्रभाव पड़ता है।

कबीरदास जी ने कहा है- ‘सेवक फल मांगे नहीं, सेब करे दिन रात’ अर्थात – सेवा करने वाला सेवा का फल नहीं मांगता, दिन रात निःस्वार्थ भाव से सेवा करता है। दूसरों की निस्वार्थ सेवा के हमारे यही संस्कार हैं, जो इस मुश्किल समय में काम आ रहें हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा।

#Narendramodi #varanasi #pmmodi #Uttarpradesh

 

Continue Reading

Trending