Connect with us

प्रादेशिक

कोचिंग के लिए रोज़ जाती थी 70 किमी, कुशीनगर की आकांक्षा ने NEET में पाए 720 में 720 नंबर

Published

on

कुशीनगर। यूपी के कुशीनगर जिले की रहने वाली आकांक्षा सिंह ने नीट परीक्षा में 720 में से 720 नंबर हासिल किए है। आकांक्षा को भरोसा था कि वह इस परीक्षा में अच्छा करेगी। आकांक्षा नीट की कोचिंग के लिए रोज़ 70 किमी गोरखपुर जाती थी। आकांक्षा का कहना है कि वह न्यूरो सर्जन बनकर पूर्वांचल के पिछड़े इलाकों में सेवा करना चाहती हैं। पढ़ाई को समय के दायरे में कभी नहीं बांधने वाली आकांक्षा ने दो साल तक मोबाइल अपने पास नहीं रखा।

आकांक्षा के पिता भारतीय वायुसेना के रिटायर्ड सार्जेंट हैं। उनकी मां रुचि सिंह गांव पर ही प्राथमिक स्‍कूल की टीचर हैं। बेटी की इस कामयाबी से वे दोनों बेहद खुश हैं। शुक्रवार को रिजल्‍ट आने के बाद उन्‍होंने अपने पूरे गांव में मिठाई बांटकर इस खुशी का इजहार किया।

आकांक्षा बताती हैं कि पहले मैं 8वीं तक सिविल सर्विस में जाने की सोच रही थी लेकिन दिल्ली स्थित एम्स मेरे लिए एक प्रेरणा है। 9वीं से मैंने उसे अपना सपना मानकर नीट की तैयारी की शुरू कर दी। 10वीं तक कुशीनगर में पढ़ने वाली आकांक्षा ने बताया कि मैं इस सफलता का श्रेय ईश्वर, माता पिता और अपने कोचिंग इंस्टीट्यूट को देना चाहती हूं। मैंने 11 व 12 दिल्ली के प्रगति पब्लिक स्कूल में पढ़ाई की। आकांक्षा को पढ़ना और गाने सुनना पसंद है।

आकांक्षा दूसरे स्थान पर हैं जबकि टॉपर शोएब के बारे में बताती हैं कि मेरी उम्र 17 साल है जबकि उनकी उम्र 18 के आसपास है इसलिए उनके प्रथम रैंक दिया गया है। वह बताती हैं कि मैंने यह कभी नहीं सोचा था कि मैं टॉप की श्रेणी में होऊंगी। हां लेकिन मैंने मेहनत से तैयारी की थी इसलिए मुझे टॉप 40 में आने की उम्मीद है।

प्रादेशिक

पूर्णिया के आईजी विनोद कुमार की इलाज के दौरान मौत, कोरोना से थे पीड़ित

Published

on

पटना। जो लोग कोरोना के हलके में ले रहे हैं और बिना मास्क के बाहर टहल रहे हैं उनको सावधान हो जाने की जरुरत है। दरअसल पूर्णिया के आईजी विनोद कुमार की कोरोना से मौत हो गई है। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उन्हें पटना रेफर किया गया था। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी।

सिविल सर्जन डॉ. उमेश शर्मा ने आईजी के मौत की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि वह पहले से ही डायबिटिज के मरीज थे। पूर्णिया जोन के वह पहले आईजी बने थे।

20 अगस्त 2019 को उन्होंने कार्यभार संभाला था। वह काफी मिलनसार स्वभाव के थे। इन्हें 2001 में आईपीएस में प्रोन्नत किया गया था और 2011 में एसपी बने थे।

Continue Reading

Trending