Connect with us

नेशनल

त्योहारों में ट्रेन से घर जाने की सोच रहे तो पढ़ लें ये नियम, वर्ना जाना पड़ सकता है जेल

Published

on

नई दिल्ली। आने वाले त्योहारी सीजन को देखते हुए रेलवे कई ट्रेनों की शुरुआत करने जा रहा है। अगर आप भी रेल यात्रा करने का मन बना रहे हैं तो ये खबर आपको पढ़ लेनी चाहिए वर्ना आपको भारी जुर्माना या जेल जाना पड़ सकता है।

आरपीएफ ने विशेष रूप से आगामी त्योहारी मौसम के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये हैं। दिशा-निर्देशों में यात्रियों से रेल परिसरों में कुछ गतिविधियां करने से बचने को कहा गया है। इनमें मास्क नहीं पहनना या सही तरीके से नहीं पहनना, सामाजिक दूरी के नियमों का पालन नहीं करना, कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हो जाने के बाद या जांच के नतीजे लंबित रहने के दौरान रेल क्षेत्र में या स्टेशन पर आने या ट्रेन में सवार होने या स्टेशन पर स्वास्थ्य टीम द्वारा यात्रा की अनुमति नहीं दिए जाने पर भी ट्रेन में सवार हो जाना आदि शामिल हैं।

आरपीएफ ने कहा कि सार्वजनिक स्थल पर थूकना भी गैरकानूनी है। रेलवे स्टेशनों पर एवं ट्रेनों में अस्वच्छ परिस्थितियां पैदा कर सकने वाली गतिविधियों में संलिप्त होना या जन स्वास्थ्य एवं सुरक्षा को प्रभावित करना तथा कोराना वायरस संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के लिए रेल प्रशासन द्वारा जारी किसी दिशा-निर्देश का पालन नहीं करने जैसी गतिविधियों की भी अनुमति नहीं होगी।

आरपीएफ ने एक बयान में कहा कि चूंकि ये गतिविधियां या कृत्य कोरोना वायरस के प्रसार को बढ़ा सकती है और किसी व्यक्ति की सुरक्षा को खतरा हो सकता है, इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए इन गतिविधियों में संलिप्त पाए जाने वाले लोगों को रेल अधिनियम की धारा 145,153 और 154 के तहत दंडित किया जा सकता है जिसमें भारी जुर्माना या जेल हो सकती है।

नेशनल

कोरोना वैक्सीन को लेकर आई खुश कर देने वाली खबर

Published

on

नई दिल्ली। भारत में कोरोना के मामले फिलहाल कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ऐसे में सबकी नजरें अब कोरोना की वैक्सीन पर लगी है कि आखिर इसकी वैक्सीन कब आएगी। इस बीच कोरोना की वैक्सीन को लेकर एक खुश करने वाली खबर सामने आई है।

डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज लिमिटेड को कोविड-19 के रूस में बने टीके स्पूतनिक वी के भारत में दूसरे और तीसरे चरण के ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल करने की मंजूरी मिल गई है। कंपनी की ओर से बताया गया है कि उसे और रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड को ड्रग कंट्रोल जनरल ऑफ इंडिया से यह मंजूरी मिली है। हैदराबाद की कंपनी ने कहा कि यह एक नियंत्रित अध्ययन होगा, जिसे कई केंद्रों पर किया जाएगा।

कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह महामारी से निपटने के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी टीका लाने को प्रतिबद्ध है। वहीं रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड के अधिकारियों का कहना है कि भारत में होने वाले परीक्षण के साथ ही रूस में तीसरे चरण के परीक्षण के डेटा को साझा करेंगे। इससे भारत में स्पूतनिक वी के क्लिनिकल डेवलपमेंट में मदद मिलेगी।

Continue Reading

Trending