Connect with us

नेशनल

भारत की गोपनीय सूचनाएं चीन को दे रहा था पत्रकार, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने चीन को भारत की गोपनीय सूचनाएं देने के आरोप में एक पत्रकार को गिरफ्तार किया है। पत्रकार का नाम राजीव शर्मा है। स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव ने कहा, उनके पुलिस रिमांड के दौरान एक चीनी महिला क्विंग शी और उनके नेपाली साथी शेर सिंह उर्फ राज बोहरा को भी गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने दावा किया कि वे चीनी खुफिया एजेंसी को संवेदनशील सूचना देने के एवज में पत्रकार राजीव शर्मा को बड़ी राशि का भुगतान कर रहे थे। कुछ दिन पहले एक खुफिया एजेंसी से एक इनपुट मिला था कि नई दिल्ली के पीतमपुरा के सेंट जेवियर अपार्टमेंट के निवासी राजीव शर्मा के विदेशी खुफिया अधिकारी के साथ संबंध हैं और वह अवैध तरीके से और पश्चिमी माध्यम से अपने हैंडलर से धन प्राप्त कर रहे हैं।

इस संबंध में सरकारी गोपनीयता अधिनियम की धारा 3/4/5 के तहत 13 सितंबर को मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद, राजीव शर्मा को 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था और दिल्ली पुलिस की ओर से उनके आवासीय परिसर की तलाशी के लिए एक वारंट प्राप्त किया गया था। संजीव यादव ने बताया कि पूछताछ के बाद राजीव शर्मा ने गुप्त और संवेदनशील जानकारी की खरीद में अपनी भागीदारी का खुलासा किया है।

#journalist #rajeevsharma #delhipolice #china

नेशनल

कोरोना वैक्सीन को लेकर आई खुश कर देने वाली खबर

Published

on

नई दिल्ली। भारत में कोरोना के मामले फिलहाल कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ऐसे में सबकी नजरें अब कोरोना की वैक्सीन पर लगी है कि आखिर इसकी वैक्सीन कब आएगी। इस बीच कोरोना की वैक्सीन को लेकर एक खुश करने वाली खबर सामने आई है।

डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज लिमिटेड को कोविड-19 के रूस में बने टीके स्पूतनिक वी के भारत में दूसरे और तीसरे चरण के ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल करने की मंजूरी मिल गई है। कंपनी की ओर से बताया गया है कि उसे और रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड को ड्रग कंट्रोल जनरल ऑफ इंडिया से यह मंजूरी मिली है। हैदराबाद की कंपनी ने कहा कि यह एक नियंत्रित अध्ययन होगा, जिसे कई केंद्रों पर किया जाएगा।

कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह महामारी से निपटने के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी टीका लाने को प्रतिबद्ध है। वहीं रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड के अधिकारियों का कहना है कि भारत में होने वाले परीक्षण के साथ ही रूस में तीसरे चरण के परीक्षण के डेटा को साझा करेंगे। इससे भारत में स्पूतनिक वी के क्लिनिकल डेवलपमेंट में मदद मिलेगी।

Continue Reading

Trending