Connect with us

प्रादेशिक

प्रयागराज के SSP के बाद अब महोबा के SP निलंबित, अवैध रूप से धन उगाही का है आरोप

Published

on

लखनऊ। भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को महोबा के एसपी मणि लाल पाटीदार को निलंबित कर दिया है। सीएम योगी ने लगातार दूसरे दिन राज्य के बड़े पुलिस अधिकारी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। मणि लाल पाटीदार पर परिवहन में लगी गाड़ियों के चलाए जाने हेतु अवैध रूप से पैसे मांगने और वाहन स्वामी के उत्पीड़न का आरोप लगा है। महोबा में मणि लाल पाटीदार के स्थान पर अरुण कुमार श्रीवास्तव को नियुक्त किया गया गया है।

गृह विभाग के प्रवक्ता के अनुसार महोबा के पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार को तत्काल प्रभाव से निलंबित किए जाने के निर्देश दे दिए गए हैं। उन पर गिट्टी के परिवहन के लिए लगी गाड़ियों के चलाए जाने के लिए अवैध रूप से धन उगाही की मांग की गई थी, जिसे पूरा नहीं किए जाने पर वाहन स्वामी का पुलिस के माध्यम से उत्पीड़न किया गया। आईपीएस अधिकारी पाटीदार को पुलिस महानिदेशक मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया है और लखनऊ कमिश्नरेट के पुलिस उपायुक्त अरुण कुमार श्रीवास्तव को महोबा का नया एसपी बनाया गया है।

गौरतलब है कि चौबीस घंटे पहले ही अपराध नियंत्रण और कानून व्यवस्था में ढिलाई बरतने और भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण प्रयागराज के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर निलंबित कर दिया गया था। उन्हें भी पुलिस महानिदेशक कार्यालय से संबद्ध किया गया है।

#manilalpatidar #sp #mahoba #yogiadityanath

प्रादेशिक

अनुराग कश्यप के खिलाफ केस दर्ज, एक्ट्रेस पायल घोष ने लगाया है रेप का आरोप

Published

on

मुंबई। फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप के लिए आने वाला समय मुश्किलों भरा हो सकता है। एक्ट्रेस पायल घोष ने उनके खिलाफ रेप के मामले में एफआईआर दर्ज कराई है। एक अधिकारी ने बताया है कि घोष और उनके वकील नितिन सातपुते पुलिस में पहुंचे जिसके बाद मंगलवार देर रात वर्सोवा पुलिस स्टेशन कश्यप के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई.

कश्यप के खिलाफ आईपीसी की 376 (I) (रेप), 354 (महिला की शीलता भंग करने के इरादे के साथ उसका शोषण करना या आपराधिक दबाव डालना), 341 (गलत तरीके से नियंत्रण करना) और 342 (गलत तरीके से रोकना) धाराओं में केस दर्ज किया गया है।पायल के वकील नितिन सतपुते ने बुधवार तड़के अपने ट्विटर अकाउंट पर जारी एक बयान में प्राथमिकी का विवरण साझा किया। एफआईआर मंगलवार देर रात दर्ज की गई।

सतपुते ने पोस्ट में लिखा, पायल घोष की एफआईआर अंतत: दर्ज की गई, आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म, गलत बर्ताव, गलत इरादे से रोकना और महिला का अपमान करने पर आईपीसी के तहत यू / एस 376 (1), 354, 341, 342 सहित कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। पायल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शनिवार को कश्यप के खिलाफ आधिकारिक रूप से मीटू आरोप लगाए थे। आरोप लगाने के एक दिन बाद उन्होंने दावा किया कि कश्यप ने साल 2014 में उनके सामने अपने कपड़े उतारे और उनसे छेड़छाड़ करने की कोशिश की।

Continue Reading

Trending