Connect with us

प्रादेशिक

यूपी में अपराधियों के हौसले बुलंद, योगी के मंत्री को दी एनकाउंटर की धमकी

Published

on

प्रतापगढ़। यूपी में अपराधियों के हौसले इस कदर बुलंद हैं, इसका नजारा हमें मंगलवार को देखने को मिला। यहां यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री को एक शख्स ने एनकाउंटर की धमकी दे डाली। इसका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। वीडियो में सुल्तानपुर जिले के करौदी कला के निवासी आरोपी चंदन यादव उर्फ बग्गद कह रहा है कि सभापति यादव मेरे मामा लगते हैं। अगर उनको कुछ हुआ तो मैं सीधे मोती सिंह का एनकाउंटर करुंगा। इसके बाद सभापति यादव के समर्थक उनके पक्ष में नारेबाजी करते दिखाई दिए। उत्तर प्रदेश के मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह को मोती सिंह के नाम से जाना जाता है। वह प्रतापगढ़ में पट्टी निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं।

वीडियो क्लिप का संज्ञान लेते हुए, पुलिस ने प्रतापगढ़ के असपुर देवसरा पुलिस स्टेशन में आपदा अधिनियम की धारा 51 के तहत और चंदन यादव बग्गद के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 504, 506, 507, 188 और 269 के तहत और आईटी एक्ट की धारा 66 के तहत मंगलवार को मामला दर्ज किया।

आईजी प्रयागराज रेंज के.पी. सिंह ने कहा, हमने आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की दो टीमें गठित की हैं। टीमें आरोपी के साथ वीडियो में दिखाई दे रहे अन्य लोगों की भी पहचान कर रही हैं। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि सभापति यादव असपुर देवसरा पुलिस थाने का हिस्ट्रीशीटर है और उसके खिलाफ लगभग 50 आपराधिक मामले लंबित हैं। पिछले महीने ही पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत उसकी 1.6 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की थी।

#motisingh #upgovt #yogiadityanath #uppolice

प्रादेशिक

अनुराग कश्यप के खिलाफ केस दर्ज, एक्ट्रेस पायल घोष ने लगाया है रेप का आरोप

Published

on

मुंबई। फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप के लिए आने वाला समय मुश्किलों भरा हो सकता है। एक्ट्रेस पायल घोष ने उनके खिलाफ रेप के मामले में एफआईआर दर्ज कराई है। एक अधिकारी ने बताया है कि घोष और उनके वकील नितिन सातपुते पुलिस में पहुंचे जिसके बाद मंगलवार देर रात वर्सोवा पुलिस स्टेशन कश्यप के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई.

कश्यप के खिलाफ आईपीसी की 376 (I) (रेप), 354 (महिला की शीलता भंग करने के इरादे के साथ उसका शोषण करना या आपराधिक दबाव डालना), 341 (गलत तरीके से नियंत्रण करना) और 342 (गलत तरीके से रोकना) धाराओं में केस दर्ज किया गया है।पायल के वकील नितिन सतपुते ने बुधवार तड़के अपने ट्विटर अकाउंट पर जारी एक बयान में प्राथमिकी का विवरण साझा किया। एफआईआर मंगलवार देर रात दर्ज की गई।

सतपुते ने पोस्ट में लिखा, पायल घोष की एफआईआर अंतत: दर्ज की गई, आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म, गलत बर्ताव, गलत इरादे से रोकना और महिला का अपमान करने पर आईपीसी के तहत यू / एस 376 (1), 354, 341, 342 सहित कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। पायल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शनिवार को कश्यप के खिलाफ आधिकारिक रूप से मीटू आरोप लगाए थे। आरोप लगाने के एक दिन बाद उन्होंने दावा किया कि कश्यप ने साल 2014 में उनके सामने अपने कपड़े उतारे और उनसे छेड़छाड़ करने की कोशिश की।

Continue Reading

Trending