Connect with us

प्रादेशिक

यूपी में अब तक 1,67,543 मरीज कोरोना से हुए पूरी तरह से ठीक

Published

on

उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 6,233 नए मामले आए हैं। प्रदेश में 54,666 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। होम आइसोलेशन में रहने वाले लोग थर्मामीटर तथा पल्स ऑक्सीमीटर साथ रखें। यदि किसी को खांसी, बुखार या सांस फूले तो तत्काल हेल्पलाइन नं. 18001805145 पर सम्पर्क करें।

अनलॉक-4 में भी नहीं खुलेंगे स्कूल और कॉलेज, गाइडलाइंस जारी

कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल, एक दिन में 1,39,454 सैम्पलों की जांच की गई। प्रदेश में अब तक कुल 54,90,354 सैम्पलों की जांच की गई हैं।अगस्त माह का पॉजिटिव रेट 4.7 प्रतिशत है, जो अब तक का सर्वाधिक है। कानपुर, गोरखपुर, महाराजगंज, देवरिया, लखनऊ तथा कुशीनगर में सबसे अधिक पॉजिटिव रेट पाया गया है।

प्रदेश में वर्तमान में 50 प्रतिशत से अधिक लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में अब तक 1,67,543 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं।जिसमें 27,364 मरीज होम आइसोलेशन, 2963 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 256 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में हैं।

#corona #covid19 #uttarpradesh #yogiadityanath

 

प्रादेशिक

पूर्णिया के आईजी विनोद कुमार की इलाज के दौरान मौत, कोरोना से थे पीड़ित

Published

on

पटना। जो लोग कोरोना के हलके में ले रहे हैं और बिना मास्क के बाहर टहल रहे हैं उनको सावधान हो जाने की जरुरत है। दरअसल पूर्णिया के आईजी विनोद कुमार की कोरोना से मौत हो गई है। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उन्हें पटना रेफर किया गया था। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी।

सिविल सर्जन डॉ. उमेश शर्मा ने आईजी के मौत की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि वह पहले से ही डायबिटिज के मरीज थे। पूर्णिया जोन के वह पहले आईजी बने थे।

20 अगस्त 2019 को उन्होंने कार्यभार संभाला था। वह काफी मिलनसार स्वभाव के थे। इन्हें 2001 में आईपीएस में प्रोन्नत किया गया था और 2011 में एसपी बने थे।

Continue Reading

Trending