Connect with us

प्रादेशिक

कोरोना के मद्देनजर लोग घरों से टीवी पर देखें राम मंदिर भूमि पूजन: योगी आदित्यनाथ

Published

on

लखनऊ। अयोध्या में पांच अगस्त को राम मंदिर के भूमि पूजन का कार्यक्रम है। इसके लिए तैयारियां भी जोरों शोरों से चल रही हैं। पूरी अयोध्या को सजाया संवारा जा रहा है। इन सबके बीच यूपी सरकार की सबसे बड़ी चिंता कोरोना को लेकर है। ऐसे में सीएम योगी ने अपील की है कि लोग राम मंदिर भूमि पूजन अपने घरों में रहकर लाइव देखें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि निश्चित रूप से 5 अगस्‍त को अयोध्‍या में आयोजित भूमिपूजन कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए प्रभु श्रीराम के असंख्‍य अनन्‍य भक्‍तगण परम् इच्‍छुक होंगे लेकिन मौजूदा वैश्विक कोरोना महामारी के कारण यह संभव नहीं हो पा रहा। इसे प्रभु इच्‍छा मानकर सहर्ष स्‍वीकार करना चाहिए।

एक लेख के जरिये सीएम योगी ने कहा है कि आमजन घर में रहकर इस ऐतिहासिक कार्यक्रम को लाइव देखें मुख्यमंत्री ने कहा कि 4 और 5 को घरों में देव मंदिरों में दीप जलाएं, अखंड रामायण का पाठ करें। उन्होंने कहा कि वर्षों तक राजनीतिक उपेक्षा के भंवर जाल में उलझी रही अवधपुरी, आध्‍यात्मिक और आधुनिक संस्‍कृति का नया प्रमिमान बनकर उभरेगी। यहां रोजगार के नए अवसर सृजित हो रहे हैं। विगत तीन वर्षों में विश्‍व ने अयोध्‍या की भव्‍य दीपावली देखी है, अब यहां धर्म और विकास के समन्‍वय से हर्ष की सरिता और समृद्धि की बयार बहेगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्‍वयं भूमि पूजन करेंगे। यह प्रत्‍येक भारतीय के लिए गौरव का क्षण होगा। प्रधानमंत्री के कारण ही देश और दुनिया लगभग पांच शताब्‍दी बाद इस शुभ मुहूर्त का अहसास कर पा रही है। उन्होंने कहा कि भाव-विभोर करने वाले इस ऐतिहासिक अवसर पर प्रत्‍येक देशवासी का मन प्रफुल्लित होगा।

प्रादेशिक

शादी समारोहों के लिए नहीं लेनी होगी अनुमति, पुलिस ने दुर्व्यवहार किया तो होगी कार्रवाई: योगी आदित्यनाथ

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ़ किया है कि शादी समारोहों के लिए पुलिस या प्रशासनिक अनुमति की कोई आवश्यकता नहीं होगी। सिर्फ सूचना देकर कोविड प्रोटोकॉल के तहत शादी समारोह कराए जा सकेंगे। इस संबंध में कहीं से भी पुलिस दुर्व्यवहार की शिकायत आई तो सख्त कार्रवाई होगी। इसके अलावा बैंड बजाने, डीजे बजाने से रोकने वाले अधिकारियों व पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

सीएम योगी की तरफ जारी निर्देश में कहा गया है कि केवल सूचना देकर कोविड प्रोटोकाल और गाइडलाइन के सभी निर्देशों का पालन करते हुए विवाह समारोह का आयोजन किया जा सकता है। विवाह के लिए जिन 100 लोगों की संख्या रखी गई है उसमें बैंड बाजा वाले लोग शामिल नहीं हैं।

सीएम योगी ने कहा कि गाइडलाइन के नाम पर उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं होगा। उन्होंने प्रशासन से कहा है कि वो लोगों को जागरूक करें और गाइडलाइन का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करें। वहीं बैंड बजाने, डीजे बजाने से रोकने वाले अधिकारियों व पुलिसकर्मियों पर कठोर कार्रवाई होगी।

Continue Reading

Trending