Connect with us

प्रादेशिक

बिहार के मंत्री ने रिया चक्रवर्ती को कहा सुपारी किलर

Published

on

पटना। बीते दिनों जहां सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने एक्टर की कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ केस दर्ज करवाया तो वहीँ अब बिहार के मंत्री महेश्वर हजारी ने रिया को सुपरी किलर और विषकन्या तक बता दिया। मंत्री ने आशंका जताते हुए कहा कि यह आत्महत्या का नहीं बल्कि हत्या का मामला लगता है।

उन्होंने कहा कि रिया चक्रवर्ती न सिर्फ सुपारी किलर है बल्कि वह बॉलीवुड की विषकन्या की तरह है, जिसने सुशांत सिंह राजपूत को अपने प्रेमजाल में फंसा कर जान ले ली।

हजारी ने आगे कहा कि रिया चक्रवर्ती विषकन्या की तरह है जिसे साजिश के तहत सुशांत के पास भेजा गया था। उन्होंने कहा कि वह न जाने आगे कितने लोगों की अपनी महत्वकांक्षा को पूरा करने के चक्कर में जान ले लेगी। ऐसी सुपारी किलर पर जल्द से जल्द कार्रवाई हो।

उन्होंने कहा कि अब तक कोई जांच मुंबई पुलिस द्वारा नहीं की गई है, केवल लीपापोती की कोशिश है। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार अब विधिसम्म्त उच्चसतरीय जांच करवाने पर विचार कर रही है।

प्रादेशिक

निकिता हत्याकांड: कांग्रेस विधायक का चचेरा भाई है आरोपी, दादा भी रह चुके हैं विधायक

Published

on

नई दिल्ली। हरियाणा के बल्लभगढ़ में सोमवार को दिनदहाड़े 21 साल की एक युवती की हत्या के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। घटना के वक्त छात्रा कॉलेज से अपने घर वापस जा रही थी। मुख्य आरोपी की पहचान सोहना रोड निवासी तौसिफ के रूप में हुई है और दूसरे आरोपी की पहचान नूंह जिले के रेहान के रूप में हुई है। दोनों आरोपियों को कोर्ट के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे दो दिनों की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया।

वहीं, जानकारी सामने आ रही है कि तौसिफ कांग्रेस विधायक का चचेरा भाई है जबकि उसके दादा भी विधायक रह चुके हैं। नूंह से कांग्रेस विधायक आफताब अहमद उसके चचेरे भाई हैं।तौसीफ और निकिता दोनों फरीदाबाद के एक स्‍कूल में साथ पड़े थे। निकिता 12वीं की बोर्ड टॉपर्स में थी और सिविल सविर्सिज एग्‍जाम की तैयारी कर रही थी। 2018 में स्‍कूल खत्‍म होने के बाद दोनों अलग-अलग कॉलेज में पढ़ने लगे। पुलिस के अनुसार, उसी साल तौसीफ ने निकिता का अपहरण किया था। मामला दर्ज हुआ था लेकिन पंचायत के बाद वापस ले लिया गया। निकिता के परिवार का आरोप है कि उनपर तौसीफ के रिश्‍तेदारों ने दबाव बनाया था। नूंह में तौसीफ के परिवार का दबदबा है और निकिता के परिवार को भरोसा दिया गया था कि तौसीफ आगे कुछ नहीं करेगा। लेकिन इसके बाद भी उसने इस घटना को अंजाम दे डाला।

पुलिस ने कहा, घटना सोमवार शाम को शाम चार बजे तब हुई, जब पीड़िता निकिता तोमर परीक्षा के बाद अग्रवाल कॉलेज से वापस आ रही थी। दो लोगों ने पीड़िता का अपहरण करने की कोशिश की, जब उसने विरोध किया तो एक आरोपी ने रिवॉल्वर से उसपर फायरिंग कर दी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, कस्टडी रिमांड के दौरान, हत्या के लिए इस्तेमाल हथियार, वाहन इत्यादि को बरामद किए जाएंगे उनसे घटना के कारण का भी पता लगाया जाएगा। हालांकि पीड़िता के परिवार ने दावा किया है कि मुख्य आरोपी पीड़िता को पसंद करता था और वह उसका प्रपोजल बार-बार ठुकरा रही थी, जिससे गुस्से में आकर उसने पीड़िता की हत्या कर दी।

Continue Reading

Trending