Connect with us

प्रादेशिक

सीएम योगी बोले- बुजुर्गों, बच्चों और गर्भवती महिलाओं का कोरोना टेस्ट प्राथमिकता के आधार पर किया जाए

Published

on

लखनऊ। सीएम योगी ने मंगलवार को कोरोना को लेकर एक उच्चस्तरीय बैठक की। इस बैठक में उन्होंने  चिकित्सकों और शोधकर्ताओं का कोविड-19 संक्रमण से उबर चुके मरीजों की केस हिस्ट्री का गहराई से अध्ययन कर प्रभावी इलाज ढूंढ़ने के प्रयास करने की अपील की है।

सीएम योगी ने कहा कि कोरोना वायरस की अभी तक कोई कारगर दवा अथवा वैक्सीन नहीं बनी है। ऐसे में जरूरी है कि चिकित्सक तथा शोधकर्ता प्रदेश में सफलतापूर्वक उपचारित किये गये रोगियों की केस हिस्ट्री का गहन अध्ययन करते हुए प्रभावी उपचार विधि विकसित करने का प्रयास करें।

योगी ने कोविड-19 के रोगियों की रिकवरी दर को और बेहतर करने के निर्देश देते हुए कहा कि बुजुर्गों, बच्चों, गर्भवती महिलाओं, बीमार तथा कमजोर व्यक्तियों की मेडिकल टेस्टिंग प्राथमिकता के आधार पर की जाये। प्रदेश में टेस्टिंग संख्या में लगातार वृद्धि किये जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक मेडिकल टेस्ट करके कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकता है.

रैपिड एन्टीजन टेस्ट के जरिये रोजाना एक लाख टेस्ट, आरटीपीसीआर के माध्यम से 40 से 45 हजार तथा ट्रूनैट मशीन से 2,500 से 3,000 टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य महानिदेशक और चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों तथा मेडिकल कॉलेजों में कोविड-19 के प्रोटोकॉल के अनुरूप सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने के लिए सूक्ष्म विश्लेषण करते हुए स्वास्थ्य सम्बन्धी पुख्ता इंतजाम करें।

#yogiadityanath #cmyogi #corona

प्रादेशिक

यूपी में 536 गांवों में मंडरा रहा बाढ़ का खतरा, एक्शन में आई योगी सरकार

Published

on

By

यूपी में अम्बेडकर नगर, बाराबंकी, अयोध्या, कुशीनगर, गोरखपुर, बहराइच, लखीमपुर खीरी, आजमगढ़, गोंडा, बस्ती, मऊ, संतकबीर नगर, सीतापुर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर व बलरामपुर जिले के 536 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं। इनमें से 391 गांव मैरुंड हैं।

राम मंदिर हमारी शाश्वत आस्था का प्रतीक बनेगा: पीएम मोदी

प्रदेश में शारदा नदी-पलिया कला (लखीमपुर खीरी) में, राप्ती नदी-बर्डघाट (गोरखपुर) में, सरयू नदी-एल्गिनब्रिज (बाराबंकी) में, सरयू नदी-अयोध्या (अयोध्या) में तथा सरयू (घाघरा) नदी-तुर्तीपार (बलिया) में खतरे के जलस्तर से ऊपर बह रही हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देशित किया है कि प्रदेश के समस्त बांधों की निगरानी के साथ ही आवश्यक मरम्मत सामग्री की उपलब्धता को भी सुनिश्चित किया जाए, ताकि किसी प्रकार की क्षति होने के पूर्व ही उसे रोका जा सके।

#Uttarpradesh #cmyogi #floods #lucknow

Continue Reading

Trending